डॉ०राजशेखर आईएएस ने कहा: *प्रिय अधिकारी गण और मीडिया फ्रेंड्स-राजशेखर* लखनऊ, आलम बाग न्यू बस स्टेशन के विजिट के महत्वपूर्ण हाईलाइट्स इस प्रकार हैं...। 1- इस दौरे में आरएम लखनऊ, एआरएम आलमबाग, एसएम, प्राइवेट फर्म (शालीमार) के प्रतिनिधि सेट अप और प्रबंधन कर रहे अन्य अधिकारी भी साथ रहे। 2- आलमबाग न्यू बस स्टेशन उत्तर प्रदेश का "पहला पीपीपी" (पब्लिक प्राइवेट पार्टनरशिप) मॉडल बस स्टेशन था। इस बस स्टेशन का निर्माण 2016 में शुरू किया गया और जून 2018 में उद्घाटन किया गया। 3- लगभग 1055 बसें संचालित होती हैं। (संयुक्त रूप से यूपीएसआरटीसी और अनुबंधित दोनों )। लगभग 20000 यात्री इस बस स्टेशन की सेवाओं का उपयोग करते हैं। इस बस स्टेशन से ज्यादातर लंबी दूरी की यूपी, उत्तराखंड, दिल्ली आदि के विभिन्न गंतव्यों तक की सभी बसें जाती हैं। और इस बस स्टेशन से अधिकांश एसी बसें भी चलती हैं। 4- चूंकि यह यूपी का पहला पीपीपी मॉडल बस स्टेशन था, इसलिए इसका प्रदर्शन अच्छा है। जनता /यात्रियों को "सर्वश्रेष्ठ सेवाएं" सुनिश्चित करने के लिए यूपीएसआरटीसी और शालीमार द्वारा संयुक्त रूप से कुछ समस्याओं/ मुद्दों का निदान करना है। 6- इस बस स्टेशन के बारे में सकारात्मक बातें हैं: यह बहुत विशाल है, काफी अधिक संचलन क्षेत्र, पार्किंग का पर्याप्त स्थान, मॉल, फूड कोर्ट, वाणिज्यिक दुकानें एक ही छत के नीचे उपलब्ध हैं। मेट्रो सेवाओं के साथ आसान कनेक्टिविटी सबसे महत्वपूर्ण है। 6- प्रमुख मुद्दे / समस्याएं जिनका यात्री, पब्लिक और यूपीएसआरटीसी के स्टाफ/ कर्मचारी सामना कर रहे हैं: ए - आंतरिक सुरक्षा प्रणाली जिम्मेदारी तय की जानी चाहिए और विभिन्न अनिवार्य गतिविधियों जैसे प्रवेश / निकास प्वाइंट की जांच, बैगों की स्कैनिंग, फिजीशियन डोर फ्रेम मेटल डिटेक्टर (डीएफएमडी) जांच और फ्रिस्किंग आदि सुव्यवस्थित होना चाहिए। बी- एयर कंडीशनिंग 24 घंटे के लिए उपलब्ध नहीं है। एग्रीमेंट के अनुसार, यह 12 घंटे (कार्यालय) और 16 घंटे (काउंटर बुकिंग के लिए) के लिए है। कार्य का कुशल आउटपुट" और कार्य प्रदर्शन" एयर कंडीशनिंग सिस्टम "का 24 घंटे काम करना अनिवार्य है। ग- बसों के प्रवेश बिंदु पर "बूम बैरियर" (जो कि बसों की पार्किंग के लिए बस डक के स्थान का आवंटन सुनिश्चित करेगा, जिसे सार्वजनिक सूचना प्रणालियों पर प्रदर्शित किया जाएगा) पिछले लगभग 5 महीनों से काम नहीं कर रहा है। 7- उपरोक्त मुद्दों को देखते हुए, एमडी ने यूपीएसआरटीसी के अपर प्रबंध निदेशक की अध्यक्षता सीजीएम (संचालन), जीएम (पीपीपी), आरएम लखनऊ, एआरएम आलमबाग और शालीमार के दो प्रतिनिधियों की समन्वय समिति गठित की है। जो नियमित रूप से बैठकों में इन मुद्दों को प्रभावी ढंग से हल करेंगी। अगले सप्ताह में 31 जुलाई तक उपरोक्त मुद्दों को हल करने के लिए पहली बैठक आयोजित की जाएगी। 8- एमडी ने शालीमार को बूम बैरियर सिस्टम की मरम्मत और कार्यात्मक बनाने के लिए 15 दिनों का अल्टीमेटम दिया, ताकि यात्रियों को उनके बस और बस डक क्षेत्र की आसानी से पहचान करने में मदद मिले। इससे बस स्टेशन में प्रत्येक बस के प्रवेश और निकास पर नज़र रखने में भी यूपीएसआरटीसी को मदद मिलेगी। यूपीएसआरटीसी का "आलमबाग न्यू बस स्टेशन" को प्रस्तावित नए पीपीपी बस स्टेशनों सहित अन्य सभी बस स्टेशनों के लिए "आदर्श बस स्टेशन" के रूप में विकसित करने का इरादा है। 9- एमडी ने कुछ बसों का निरीक्षण कर स्पीड कंट्रोल डिवाइस (एससीडी), वाहन ट्रैकिंग सिस्टम और मेडिकल किट जैसे आवश्यक सिस्टम की जांच की। उन्होंने ड्राइवरों और कंडक्टरों से बातचीत की और स्वास्थ्य जांच, ड्रेस कोड, मेडिकल किट आदि के बारे में उनकी प्रतिक्रिया ली: ए- मेडिकल किट कुछ बसों में उपलब्ध थे और कुछ बसों में गायब थे। एमडी ने अन्य बसों में भी इसे सुनिश्चित करने के लिए आरएम और एआरएम को निर्देशित किया। बी- लंबे रूट की बसों के 208 बस ड्राइवरों में से 68 ड्राइवरों का मेडिकल टेस्ट और आंखों का चेकअप पूरा हो चुका है और बाकी काम 31 जुलाई तक पूरा हो जाएगा। सी- लंबी दूरी की 80 प्रतिशत बसों में वाहन ट्रैकिंग सिस्टम कार्यात्मक है, आरएम ने एमडी को आश्वासन दिया है कि शेष 20 प्रतिशत बसों में 31 जुलाई तक मरम्मत कराने के बाद क्रियाशील बना दिया जाएगा डी- गति नियंत्रण उपकरणों (एससीडी) में से कई रिपेयरिंग में हैं और इसकी मरम्मत / प्रतिस्थापन में काफी लंबा समय लग रहा है। अधिकारियों ने बताया कि आपूर्ति, रखरखाव और मरम्मत के लिए जिम्मेदार फर्म / कंपनी जवाब नहीं दे रही है और मरम्मत / प्रतिस्थापन की सेवाओं का प्रदर्शन अच्छा नहीं है। एमडी ने इसे गंभीरता से लेते हुए रिपेयरिंग और रखरखाव का दायित्व उठा रही फर्म को "ब्लैक लिस्ट" करने की शो-काज नोटिस जारी किया है। एमडी ने यूपीएसआरटीसी मुख्यालय से संबंधित अधिकारियों को दैनिक आधार पर इसके सख्त अनुपालन का निर्देश दिया, साथ ही सभी लंबी दूरी की बसों में 31 जुलाई तक पूरी तरह कार्यात्मक एससीडी होना सुनिश्चित करें। ई- अधिकांश ड्राइवर और कंडक्टर वर्दी में थे, लेकिन उनमें से अधिकांश ने न तो जूते पहने थे, न ही नाम / पदनाम का बैज लगाए थे। एमडी ने उपरोक्त खामियों के लिए एआरएम और आलमबाग बस स्टेशन के स्टेशन प्रभारी को "लिखित चेतावनी" जारी की और उनसे व्यक्तिगत रूप से कमियों की निगरानी करने एवं सभी लंबी दूरी के वाहनों में 31 जुलाई तक और बाकी बसों में 30 अगस्त तक विशेष रूप से वीटीएस, एससीडी, मेडिकल किट, ड्रेस कोड आदि का अनुपालन सुनिश्चित करने को कहा। एमडी ने सभी आरएम / एसएम / एआरएम को 31 जुलाई तक सभी ड्राइवरों और कंडक्टरों के लिए सुझाव के अनुसार उचित ड्रेस कोड सुनिश्चित करने और मासिक आधार पर इसकी मासिक निगरानी रिपोर्ट करने के लिए लिखित आदेश जारी किया। ---------- धन्यवाद डा. राज शेखर एमडी यूपीएसआरटीसी


Popular posts
Upsrtc.: *उत्तर प्रदेश परिवहन निगम के मुख्य महाप्रबंधक (प्रशासनिक) 'वरिष्ठ पी.सी.एस' श्री विजय नारायण पाण्डेय 31 मई को होंगे रिटायर* लखनऊ। उ.प्र. परिवहन निगम के मुख्य महाप्रबंधक (प्रशासनिक) विजय नारायण पांडेय (वरिष्ठ पी.सी.एस.) ने दिनाँक 20 दिसम्बर 2018 को इस पद का पदभार संभाला था और वो 5 महीना 11 दिन की सेवा करने के बाद 31 मई 2019 को विभाग को अच्छी अनुभवी जानकारियां देते हुए अपने पद से रिटायर हो जाएंगे। उनके परिवहन निगम के कार्य कलाप की सभी अधिकारियों ने सराहना की। श्री पांडेय का मत है कि अधिकारी को विभाग के हित में ही काम करना चाहिए। उन्होंने कहा हमारे बास श्री संजीव सरन वरिष्ठ आई.ए.एस., चेयरमैन, श्री धीरज शाहू वरिष्ठ,आई.ए.एस. ट्रांसपोर्ट कमिश्नर, प्रबंध निदेशक राधे श्याम आई.ए.एस. अपर प्रबंध निदेशक से भी हमको कुछ नई जानकारियां मिली जो एक नसीहत ही है। परिवहन निगम के आशुतोष गौड़ स्टाफ ऑफिसर, पर्सनल असिस्टेंट प्रबंध निदेशक व अनवर अंजार (जनसंपर्क अधिकारी, परिवहन निगम) ने भी अपने अधिकारी श्री वी. एन. पाण्डेय की प्रशंसा करते हुए बताया कि पाण्डेय जी के साथ काम करना एक नायाब अनुभव के बराबर है। अब शायद ही ऐसा अधिकारी हमारे बीच आये। - नायाब अली
Image
Santa. ! ये मध्यप्रदेश में....खरगौन के पास ही ग्राम भट्टयान के "संत सियाराम" है ....जहाँ नर्मदा नदी भी है वर्तमान में जहाँ बाबा का निवास है वह क्षेत्र डूब में जाने वाला है ...सरकार ने इन्हें मुवावजे के 2 करोड़ 51 लाख दिए थे.... तो इन्होंने सारा पैसा खरगौन के समीप ही ग्राम नांगलवाड़ी में नाग देवता के मंदिर में दान कर दिया ताकि वहा भव्य मंदिर बने और सुविधा मिले।। बहुत ही पहुचे हुये सन्त है । आप लाखो रुपये दान में दो... पर नही लेते केवल 10 रुपये लेते है ...और रजिस्टर में देने वाले का नाम साथ ही नर्मदा परिक्रमा वालो का खाना और रहने की व्यवस्था ...कई सालों से अनवरत करते आ रहे है..! सारा दिन दर्शन करने वालो के लिए चाय बनाई जाती है। 100 वर्ष पूरे कर चुके है।। ऐसे ही सन्तों का सम्मान होना चाहिए.. ❤🙏🏻❤
Image
मुत्यु लोक का सच:*आचार्य रजनीश* (१) जब मेरी मृत्यु होगी तो आप मेरे रिश्तेदारों से मिलने आएंगे और मुझे पता भी नहीं चलेगा, तो अभी आ जाओ ना मुझ से मिलने। (२) जब मेरी मृत्यु होगी, तो आप मेरे सारे गुनाह माफ कर देंगे, जिसका मुझे पता भी नहीं चलेगा, तो आज ही माफ कर दो ना। (३) जब मेरी मृत्यु होगी, तो आप मेरी कद्र करेंगे और मेरे बारे में अच्छी बातें कहेंगे, जिसे मैं नहीं सुन सकूँगा, तो अभी कहे दो ना। (४) जब मेरी मृत्यु होगी, तो आपको लगेगा कि इस इन्सान के साथ और वक़्त बिताया होता तो अच्छा होता, तो आज ही आओ ना। इसीलिए कहता हूं कि इन्तजार मत करो, इन्तजार करने में कभी कभी बहुत देर हो जाती है। इस लिये मिलते रहो, माफ कर दो, या माफी माँग लो। *मन "ख्वाईशों" मे अटका रहा* *और* *जिन्दगी हमें "जी "कर चली गई.*
Image
स्पोर्ट्समैन जाफ़र के सम्मान में क्रिकेट मैच: *जाफ़र मेहदी वरिष्ठ केन्द्र प्रभारी कैसरबाग डिपो कल 30 नवम्बर 2020 सोमवार को सेवानिवृत्त हो जाएगे उनके सम्मान में क्रिकेट मैच परिवहन निगम ने आयोजित किया* लखनऊ, उत्तर प्रदेश राज्य सड़क परिवहन निगम के स्पोर्ट्समैन जाफ़र मेहंदी जो 30 नवम्बर 2020 को सेवानिवृत्त हो जाएंगे को "मुख्य महाप्रबंधक प्रशासन" सन्तोष कुमार दूबे "वरि०पी०सी०एस०" द्वारा उनके सम्मान में क्रिकेट मैच आयोजित कर उनका सम्मान किया जायेगा , जिसमें एहम किरदार पी०आर०बेलवारिया "मुख्य महाप्रबंधक "संचालन" व पल्लव बोस क्षेत्रीय प्रबन्धक-लखनऊ एवं प्रशांत दीक्षित "प्रभारी स०क्षे०प्रबन्धक" हैं जो * अवध बस स्टेशन कमता लखनऊ* के पद पर तैनात हैं , इस समय *कैसरबाग डिपो* के भी "प्रभारी स०क्षे०प्र०" हैं। कैसरबाग डिपो के वरिष्ठ केन्द्र प्रभारी जाफ़र मेहदी साहब दिनाँक,30 नवम्बर 2020 को कल सेवानिवृत्त हो जायेगे। जाफ़र मेहदी साहब की भर्ती स्पोर्ट्स कोटा के तहत 1987 में परिवहन निगम में हुई थी। जो पछले तीन सालो से दो धारी तलवार के चपेट कि मार झेल रहे थे अब आज़ादी उनके हाथ लगी मेंहदी साहब नायाब ही नहीं तारीफे काबिल हैं उनकी जितनी भी बड़ाई की जाय कम हैl कृत्य:नायाब टाइम्स
Image
जाफ़र मेहंदी की बल्ले बल्ले: * परिवहन निगम के वरिष्ठ खिलाड़ी जाफर मेंहदी के सम्मान में एक मैत्री मैच का आयोजन किया गया। मैच के मुख्य अतिथि एस के दुबे "मुख्य प्रधान प्रबन्धक प्रशासन"* लखनऊ,आज दिनांक 29 नवम्बर 2020 को कॉल्विन क्रिकेट ग्राउंड पर परिवहन निगम के वरिष्ठ खिलाड़ी जाफर मेंहदी के सम्मान में एक मैत्री मैच का आयोजन किया गया । इस मैच के मुख्य अतिथि एस के दुबे (मुख्य प्रधान प्रबंधक प्रशासन) थे । मुख्य प्रधान प्रबंधक प्राविधिक जयदीप वर्मा एवं प्रधान प्रबंधक संचालक सुनील प्रसाद भी मौजूद रहे । इस मैच में परिवहन निगम मुख्यालय ने टॉस जीतकर पहले बैटिंग करते हुए योगेंद्र सेठ की 79 रन की शानदार पारी की बदौलत 20 ओवर में 141 रन बनाए । जवाब में खेलने उतरी कैसरबाग डिपो की टीम ने सुनील मिश्रा के नाबाद 51 व नितेश श्रीवास्तव के 25 रन की बदौलत 19.4 ओवरों में लक्ष्य हासिल कर लिया । मुख्यालय की तरफ से मनोज श्रीवास्तव ने दो व जयदीप वर्मा ने एक विकेट लिया । कैसरबाग की तरफ से रजनीश मिश्रा ने 4 ओवरों में 17 रन देकर एक विकेट , नितेश श्रीवास्तव ने एक विकेट लिया । अंत में प्रधान प्रबंधक प्रशासन ने *जाफर मेहंदी* को सम्मानित किया । *योगेंद्र सेठ* को मैन ऑफ द मैच का पुरस्कार दिया गया । मुख्यालय की तरफ से टीम का नेतृत्व जयदीप वर्मा व कैसरबाग डिपो की तरफ से टीम का नेतृत्व शशिकांत सिंह ने किया । कृत्य:नायाब टाइम्स
Image