Doctor Day:. भारत के चिकित्सक, देश में हर साल एक जुलाई को डॉक्टर्स डे मनाते हैं। देश के महान चिकित्सक भारत रत्न डॉ. बिधान चंद्र रॉय के चिकित्सा जगत में योगदान को देखते हुए उनकी याद में यह दिन मनाया जाता हैं। आजकल चिकित्सकों के लिए सबसे बड़ी चिंता की बात यह है कि कई बार मरीज के परिजन बेहतर इलाज के बावजूद भी नाराज जाते हैं और चिकित्सकों तथा उनके चिकित्सालय को नुकसान पहुंचा देते हैं। यह हाल के दिनों में कई जगह देखने को मिलता है। वास्तव में एक चिकित्सक के रूप में हमारा प्रयास हमेशा मरीजों को सर्वश्रेष्ठ उपचार प्रदान करना होता है। लेकिन कई बार चिकिसकों के प्रयास के बावजूद भी मरीज ठीक नहीं होता और हमें निराशा का सामना करना पड़ता है, पछतावा भी होता है कि हम चाहते हुए भी अपने मरीज के लिए कुछ नहीं पाये। आप सभी लोग जानते हैं कि सब चीजें हमारे नियंत्रण में नहीं होतीं हैं। कई बार भाग्य हमारा साथ नहीं देता है। ऐसे में हमारा मरीजों से विनम्र अनुरोध है कि वह हम चिकित्सकों पर यकीनन भरोसा रखें। हम मरीज और उनके परिजन के विश्वास और उम्मीद के बल पर ही चिकित्सक अपने पूर्ण ज्ञान से मरीज का उपचार करता है। आज देश दुनिया का व्यवसायीकरण हो रहा है, इसमें हम चिकित्सकों के लिए भी आवश्यक है कि अपनी सत्यनिष्ठा को बनाए रखें और अपने ज्ञान, कौशल और विशेषज्ञता का भरपूर उपयोग करके गरीब से गरीब मरीज की मदद करे। हमारे लिए यह आवश्यक है कि हम मरीज के प्रति अपने समग्र दृष्टिकोण को कभी न भूलें। आज चिकित्सा ही एक ऐसा व्यवसाय है जो सबसे अच्छा और मानवीय माना जाता है। चिकित्सक अपने दैनिक जीवन में चिकित्सीय, प्रशासनिक, सामाजिक और पारिवारिक कार्य के साथ-साथ लगातार नित-नित होने वाले चिकित्सीय शोध का अध्ययन करके अपने मरीजों को उत्कृष्ट उपचार उपलब्ध कराना होता है। हम चिकित्सकों के कार्य करने की कोई समय अवधि नहीं है, और आप लोगों को हमारा 15 मिनट का इंतजार भी नागवार होता है। हमसे सब दया की भीख चाहते है। परंतु हमारे ऊपर कोई रहम करने वाला नहीं हैं। राजकीय चिकित्सकों की तो बात ही न करिये आज तो इन चिकित्सकों की स्थिति तो बद से बदतर है। जबकि हम सभी लोग भलीभाँति जानते हैं कि अच्छे परिणाम के लिए कर्मचारियों की संतुष्टि आवश्यक है। परंतु इसे कोई नहीं सोचता है कि चिकित्सको का भी अपना कोई जीवन होता है। हम न तो भगवान हैं, और न ही बनना चाहते है। हम चिकित्सकों का एकमात्र उद्देश्य होता है कि हमारे ऊपर विश्वास करके आने वाले सभी मरीजों को मनोवांछित स्वास्थ्य लाभ मिले। वर्तमान समय में चिकित्सकों के साथ आये दिन होने वाली घटनाओं ने प्रतिभाशाली युवाओ का इस व्यवसाय से मोह भंग किया है। यह चिकित्सीय शोध और समाज के लिए अच्छा नहीं है। एक बात और आमजन को समझना चाहिए कि मरीज का उपचार चिकित्सक करता है न कि चिकित्सा उपकरण। अच्छे उपचार के लिए आवश्यक है कि हमारे पास अच्छे उपकरण के साथ अच्छे चिकित्सक भी होने चाहिये। हाँ एक बात और है कि कभी भी कोई चिकित्सक यह नहीं चाहता है कि उसके किसी मरीज का कोई अहित हो। आज उपचार करते समय चिकित्सक भयभीत रहते है। यह मरीजों के लिए उचित नहीं है। मेरे विचार से इसी भय से चिकित्सीय सेवाएं आज महंगी होती जा रहीं हैं। स्वस्थ्य भारत निर्माण मिशन में भारतीय चिकित्सकों को भी स्वस्थ्य रहना आवश्यक है। यह मरीजों के सहयोग और विश्वास के बिना संभव नहीं है। आईये हम सब मिलकर चिकित्सा व्यवसाय को सुदृढ़, ससक्त,और स्वास्थ्यकारी बनाये। आप सभी साथियों को चिकित्सक दिवस कोटि-कोटि बधाईयाँ एवं शुभकामनाएं। डॉ आशुतोष कुमार दुबे चिकित्सा अधीक्षक डॉ श्यामा प्रसाद मुखर्जी सिविल अस्पताल लखनऊ सम्पादक प्रांतीय चिकित्सक सेवा संघ उत्तर प्रदेश


Popular posts
Schi baat:*खरी बात * संस्कारी औरत का शरीर केवल उसका पति ही देख सकता है। लेकिन कुछ कुल्टा व चरित्रहीन औरतें अपने शरीर की नुमाइश दुनियां के सामने करती फिरती हैं। समझदार को इशारा ही काफी है। इस पर भी नारीवादी पुरुष और नारी दोनों, कहते हैं, कि यह पहनने वाले की मर्जी है कि वो क्या पहने। बिल्कुल सही, अगर आप सहमत हैं, तो अपने घर की औरतों को, ऐसे ही पहनावा पहनने की सलाह दें। हम तो चुप ही रहेंगे।
Image
रायबरेली हो कर प्रयागराज ? :*20 अक्टूबर से 5 नवम्बर तक राजमार्ग 24बी पर यातायात हेतु रूट परिवर्तित:वैभव श्रीवास्तव "डीएम"* रायबरेली:"सू०वि०रा०" ने जानकारी दी है कि *भारतीय राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण द्वारा जनपद रायबरेली* में रायबरेली प्रयागराज राष्ट्रीय राजमार्ग 24बी के किमी 84 में स्थित सई सेतु में मेसर्स सनराइज इन्जीनियर द्वारा प्रारम्भ किये गये मरम्मत कार्य एवं म्गचंदेपवद श्रवपदज के फिक्सिंग के लिए 20 अक्टूबर से 5 नवम्बर 2020 तक पूर्ण यातायात परिवर्तित कराने तथा ब्रिज वर्ष 1966 में खुलने के पश्चात कोई मरम्मत का कार्य न किये जाने कारण ब्रिज का म्गचंदेपवद श्रवपदज पूर्ण रूप से निष्किय हो चुका है, जिसके वजह से पुल पर प्रतिकूल दबाव पड रहा है तथा क्षतिग्रस्त होने की स्थिति बन रही है, जिसके कारण म्गचंदेपवद श्रवपदज तत्काल बदलना अति आवश्यक है। जिसके तहत यातायात परिवर्तित किया जायेगा। हल्ले वाहन के लिए लखनऊ के तरफ से प्रयागराज की तरफ जाने वाले हल्के वाहन रायबरेली सिविल लाइन चैराहे से बांयी तरफ2-25.0 किमी0 जाकर रिंग रोड से होकर जौनपुर रोड पर निकल कर मुंशीगंज बाईपास से प्रयागराज की तरफ जायेगें। प्रयागराज की तरफ से लखनऊ की तरफ जाने वाले हल्ले वाहन भी इसी रास्ते से जायेगें। भारी वाहन के लिए लखनऊ से प्रयागराज की तरफ जाने के लिए बछरावां से लालगंज होकर ऊंचाहार से प्रयागराज की तरफ से जायेगें। रायबरेली से प्रयागराज की तरफ जाने वाले वाहन रायबरेली से परशदेपुर होकर सलोन से ऊंचाहार होकर प्रयागराज की तरफ जायेगें। प्रयागराज से लखनऊ या कानपुर या रायबरेली की तरफ जाने वाले वाहन लखनऊ से प्रयागराज की तरफ जाने के लिए बछरावां से लालगंज होकर ऊंचाहार से प्रयागराज की तरफ से जायेगें। रायबरेली से प्रयागराज की तरफ जाने वाले वाहन रायबरेली से परशदेपुर होकर सलोन से ऊंचाहार होकर प्रयागराज की तरफ जायेगें। जिलाधिकारी वैभव श्रीवास्तव ने जानकारी देते हुए सभी सम्बन्धित अधिकारियों को निर्देश दिये है कि सुरक्षा कारणों को दृष्टिगत रखते हुए उक्त मार्गो पर 20 अक्टूबर से 5 नवम्बर तक पूर्ण यातायात परिवर्तित होने पर आवश्यक कार्यवाही सुनिश्चित करेगें। यह जानकारी अपर जिलाधिकारी राम अभिलाष द्वारा दी गई है। कृत्य:नायाब टाइम्स
Image
दोस्तों के बीच ताज़दार: *चारबाग बस स्टेशन के ताज़दार हुसैन "प्रबंधन" का सराहनीय कार्य अब होंगे इसी जून में सेवानिवृत्त* लखनऊ,उ०प्र०राज्य सड़क परिवहन निगम आये दिन अपने कार्यों की वजह से शासन,प्रशासन की तरफ से प्रशंसा का पात्र बनता चला आ रहा है। जिसमे लखनऊ के मुख्य स्थान चारबाग ऐसी जगह है जहाँ पर वाहनों,यात्रियों और आम जनमानस के सैलाब की स्थित को भी काबू करने वाले चारबाग बस स्टेशन के "एआरएम" ताज़दार हुसैन नकवी के कार्यो की सराहना जितनी की जाय उतनी कम है। उनके दोस्त व ख़ास साथी काशी प्रसाद "एआरएम" उप नगरी सेवा",गोपाल दयाल "एआरएम" अवध डिपो,मतीन अहमद "एआरएम" 'प्रबंधन' आलमबाग बस टर्मिनल,जमीला खातून "वरिष्ठ केन्द्र प्रभारी एवं नायाब टाइम्स "सम्पादक" नायाब अली लखनवी "वरिष्ठम पत्रकार" हैं। ताज़दार हुसैन की मुख्यालय से चारबाग बस स्टेशन में तैनाती जुलाई 2018 को हुई थी तभी से भीषण जाम एवं लॉकडाउन के समय मे हज़ारों की संख्या में आ रहे श्रमिक/प्रवासियों की भीड़ को काबू में करते हुए व्यवस्था को चाक-चौबंद बनाये रखा। जिसकी बजह से रोडवेज का नाम रोशन हो रहा है। ताजदार हुसैन वो शख्सियत है जिनके साथ फिल्मी सितारों की भी भीड़ में एक्टर आसिफ जाफरी (विक्रांत),सनी चालर्स और लखनऊ रीज़न प्रबन्धक पल्लव बोस के आदेश का पालन करते है यही वजह है पल्लव बोस ताज़दार को मानते हैं। ताज़दार हुसैन नक़वी "एआरएम" *प्रबंधन* चारबाग बस स्टेशन लखनऊ इस महीने की 30,जून 2020 को अलविदा कह *"सेवानिवृत्त"* हो जाएगे। *कृत्य:नायाब टाइम्स*
Image
कायाकल्प अवार्ड : *डीएम रायबरेली महोदया द्वारा जिला अस्पताल के कर्मचारियों को कायाकल्प अवार्ड से किया सम्मानित* रायबरेली,आज दिनांक 29/02/2020 को राणा वेनी माधव जिला चिकित्सालय (पुरुष) रायबरेली के डॉ०एन०के०श्रीवास्तव "सी०एम०एस०" की अध्यक्षता में कार्यक्रम का आयोजन किया गया इस कार्यक्रम में मुख्य अतिथि के रूप में डीएम रायबरेली शुभ्रा सक्सेना द्वारा दीप प्रज्वल करके,कर्मचारियों को कायाकल्प अवार्ड से सम्मानित करते हुए उनके अच्छे कार्यों की सराहना कर शुभकामनाये दी एवं अच्छे कार्यों को कर जिले का नाम रोशन करने की भी कर्मचारियों से अपेक्षा की। विशिष्ट अतिथि डॉ०संजय कुमार शर्मा "मुख्य चिकित्साधिकारी" ने कर्मचारियों को प्रसंशा पत्र देकर उनको सम्मानित किया। इस अवसर पर समाज सेवी शालिनी कनौजिया,अपर मुख्य चिक्तिसाधिकारी डॉ एम० नारायण,डॉ०रेनु चौधरी "वरिष्ठ अधिकारी",डॉ०अल्ताफ हुसैन "नोडल अधिकारी",डॉ०बीरबल "वरि०फिजिशन" एवं सुरेश चौधरी "मुख्य फर्मेसीस्ट",राजेश सिंह 'मुख्य फर्मेसीस्ट',सुरेंद्र पटेल "मुख्य फर्मेसीस्ट" कमल नयन श्रीवास्तव "बाबू" व समस्त अधिकारी/कर्मचारी उपस्थित थे। कृत्य:नायाब टाइम्स
Image
SJS: *आरिज़ अली प्रथम श्रेणी स्कूल में हाशिल की* रायबरेली,जनपद का जाना माना एस०जे०एस०पब्लिक स्कूल रायबरेली के छात्र आरिज़ अली पुत्र नौशाद अली पौत्र नायाब अली ने प्रथम पोजीशन क्लास में हाशिल किया आप सभी दोस्तों की दुआ का हुआ असर। कृत्य:नायाब टाइम्स
Image