कोरोना अभियान डॉ०राजशेखर: प्रिय अधिकारी गण और मीडिया फ्रेंड्स गुड इवनिंग - कोरोना वायरस को लेकर आगामी 15 दिनों के अभियान के तहत बस स्टेशनों व बसों के सेनेटाइजेशन एवं यात्रियों को इसके प्रति जागरुक करने के लिए यूपीएसआरटीसी मुख्यालय द्वारा कुल ₹ 60 लाख रुपये (₹ 3 लाख प्रति क्षेत्र या ₹ 50,000 प्रति बस डिपो/ स्टेशन) आवंटित और स्वीकृत किए गए है। एमडी यूपीएसआरटीसी ने आज सुबह 9 बजे कोरोना वायरस के खतरे को रोकने के लिए की जा रही तैयारी और कार्य प्रगति का आकलन करने के उद्देश्य से कैसरबाग बस स्टेशन का दौरा किया। आरएम लखनऊ, एआरएम कैसरबाग भी विजिट में साथ थे। 1- कोरोना महामारी के बारे में एलईडी पर लगातार क्या करें, क्या न करें संबंधी सार्वजनिक उद्घोषणा एवं वीडियो क्लिप चलाई जा रही है, ताकि लोगों को जागरुक किया जा सके। 2- कुछ एलईडी टीवी नॉन फंक्शनल (खराब) पाए गए। एमडी ने एआरएम को निर्देश दिया कि वह अगले दो दिनों में इसे दुरुस्त कराएं और इसका सार्वजनिक जागरूकता के लिए उपयोग करें। 3- सार्वजनिक सूचना के लिए कई स्थानों पर राज्य और यूपीएसआरटीसी के हेल्पलाइन नंबर प्रदर्शित किए गए हैं। 4- सभी रिसेप्शन और पूछताछ काउंटरों पर "हैंड सेनिटाइज़र" (कीटाणुनाशक) उपलब्ध है। यात्रियों से अनुरोध किया जाता है कि जब आवश्यक हो, इसका उपयोग करें। 5- बस स्टेशन, सीटें, बेंच और बाथरूम को लगातार कीटाणुनाशक से साफ किया गया था। 6- लंबे रूट पर चलने वाली और संक्रमित क्षेत्रों को जोड़ने वाली बसों की हैंड रेलिंग को कीटाणुनाशक का स्प्रे कर पोंछकर रोजाना कीटाणुरहित किया जाता है। 7- बड़ी होर्डिंग्स अभी तक उपयुक्त स्थानों पर प्रदर्शित नहीं की गई थी। एमडी यूपीएसआरटीसी ने आरएम को अगले 24 घंटों के भीतर इन्हें लगाने का निर्देश दिया। 8- कोरोना वायरस के फैलने के संबंध में कंडक्टरों और ड्राइवरों को उनकी रोजाना "काउंसलिंग" के माध्यम से जागरूक किया जा रहा है। 9- एक सक्रिय कदम के रूप में, यूपीएसआरटीसी बस के प्रस्थान से पहले कंडक्टरों द्वारा प्रत्येक बस में कोरोना वायरस के बारे में संक्षिप्त विवरण "अनाउंसमेंट एंड रीडिंग आउट" के एसओपी का अनुसरण कर रहा है। 10- कोरोना वायरस के बारे में "यात्रियों से अपील" और "महत्वपूर्ण जानकारी" के ए-4 साइज के पोस्टर अगले 3 दिनों में प्रत्येक बस में प्रमुखता से प्रदर्शित / चिपकाए जाएंगे। 11- एमडी यूपीएसआरटीसी ने कार्य प्रगति की समीक्षा करने और कोरोना वायरस के प्रसार के खतरे को रोकने के लिए सार्वजनिक जागरूकता में सर्वोत्तम संभव परिणाम सुनिश्चित करने के लिए आज सभी आरएम / एसएमएस / एआरएम के साथ एक महत्वपूर्ण वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग का आयोजन किया। 12 - यूपीएसआरटीसी मुख्यालय ने अगले 3 दिनों में यात्रियों की जानकारी के लिए सभी बसों में सामान्य सूचना सामग्री चिपकाने का भी आदेश दिया है। 13- यूपीएसआरटीसी मुख्यालय ने सभी बस स्टेशनों, डिपो, कार्यशालाओं के लिए दैनिक खर्च और प्रभावी जागरूकता अभियान के लिए 60 लाख रुपये मंजूर किए हैं। इस फंड का उपयोग बस स्टेशनों, डिपो और डेली क्लीनिंग बस स्टेशनों के लिए डिसइंफेक्टेंट, स्टाफ और पैसेंजर्स के लिए हैंड सैनिटाइज़र की खरीद, डिसिन्फेक्टेंट के साथ बसों की सफाई और हर ऑपरेशनल बस स्टेशन में बड़े होर्डिंग्स, बैनर और पोस्टर प्रदर्शित करने के लिए किया जाएगा। 14- माननीय सीएम महोदय के निर्देशों और माननीय परिवहन मंत्री और माननीय अध्यक्ष परिवहन निगम के मार्गदर्शन में यूपीएसआरटीसी सार्वजनिक जागरूकता और स्वच्छता के माध्यम से कोरोना वायरस का प्रसार रोकने के लिए वर्तमान परिस्थितियों में सबसे अच्छा संभव प्रयास कर रहा है। 15) MD UPSRTC has Warned all the concerned officers that No Negligency in this regard will be tolerated and will be dealt seriously. -------- धन्यवाद डा. राज शेखर एमडी यूपीएसआरटीसी


Popular posts
Upsrtc.: *उत्तर प्रदेश परिवहन निगम के मुख्य महाप्रबंधक (प्रशासनिक) 'वरिष्ठ पी.सी.एस' श्री विजय नारायण पाण्डेय 31 मई को होंगे रिटायर* लखनऊ। उ.प्र. परिवहन निगम के मुख्य महाप्रबंधक (प्रशासनिक) विजय नारायण पांडेय (वरिष्ठ पी.सी.एस.) ने दिनाँक 20 दिसम्बर 2018 को इस पद का पदभार संभाला था और वो 5 महीना 11 दिन की सेवा करने के बाद 31 मई 2019 को विभाग को अच्छी अनुभवी जानकारियां देते हुए अपने पद से रिटायर हो जाएंगे। उनके परिवहन निगम के कार्य कलाप की सभी अधिकारियों ने सराहना की। श्री पांडेय का मत है कि अधिकारी को विभाग के हित में ही काम करना चाहिए। उन्होंने कहा हमारे बास श्री संजीव सरन वरिष्ठ आई.ए.एस., चेयरमैन, श्री धीरज शाहू वरिष्ठ,आई.ए.एस. ट्रांसपोर्ट कमिश्नर, प्रबंध निदेशक राधे श्याम आई.ए.एस. अपर प्रबंध निदेशक से भी हमको कुछ नई जानकारियां मिली जो एक नसीहत ही है। परिवहन निगम के आशुतोष गौड़ स्टाफ ऑफिसर, पर्सनल असिस्टेंट प्रबंध निदेशक व अनवर अंजार (जनसंपर्क अधिकारी, परिवहन निगम) ने भी अपने अधिकारी श्री वी. एन. पाण्डेय की प्रशंसा करते हुए बताया कि पाण्डेय जी के साथ काम करना एक नायाब अनुभव के बराबर है। अब शायद ही ऐसा अधिकारी हमारे बीच आये। - नायाब अली
Image
Santa. ! ये मध्यप्रदेश में....खरगौन के पास ही ग्राम भट्टयान के "संत सियाराम" है ....जहाँ नर्मदा नदी भी है वर्तमान में जहाँ बाबा का निवास है वह क्षेत्र डूब में जाने वाला है ...सरकार ने इन्हें मुवावजे के 2 करोड़ 51 लाख दिए थे.... तो इन्होंने सारा पैसा खरगौन के समीप ही ग्राम नांगलवाड़ी में नाग देवता के मंदिर में दान कर दिया ताकि वहा भव्य मंदिर बने और सुविधा मिले।। बहुत ही पहुचे हुये सन्त है । आप लाखो रुपये दान में दो... पर नही लेते केवल 10 रुपये लेते है ...और रजिस्टर में देने वाले का नाम साथ ही नर्मदा परिक्रमा वालो का खाना और रहने की व्यवस्था ...कई सालों से अनवरत करते आ रहे है..! सारा दिन दर्शन करने वालो के लिए चाय बनाई जाती है। 100 वर्ष पूरे कर चुके है।। ऐसे ही सन्तों का सम्मान होना चाहिए.. ❤🙏🏻❤
Image
शहीद को नमन: *डीएम-एसपी शहीद को कंधा देते व पुष्पचक्र अर्पित कर सलामी व हाथ जोड़कर अन्तिम विदाई दी, दाहसंस्कार, उ0प्र0 के मुख्यमंत्री ने शहीद जवान श्री शैलेन्द्र प्रताप सिंह के शौर्य और वीरता को नमन करते हुए उन्हें भावभीनी दी श्रद्धांजलि ...प्रदेश सरकार शहीद के परिवार को हर सम्भव करेगी मदद! डीएम-एसपी व जनप्रतिनिधियों व शहीद के परिजनों जनपद के लाल व वीर जवान शहीद शैलेन्द्र प्रताप सिंह को पुष्पचक्र अर्पित कर सलामी व हाथ जोड़कर नम आखों से शहीद को दी अन्तिम विदाई देश की सेवा करते शहीद हुए जनपद का वीर जवान शहीद शैलेन्द्र प्रताप सिंह की शहादत पर है गर्व: डीएम-एसपी शहीद शैलेन्द्र प्रताप सिंह का राजकीय सम्मान के साथ किया गया अन्तिम संस्कार* रायबरेली, "सू०वि०रा०" श्रीनगर के सोपोर में देश की सेवा करते हुए विगत दिवस से आतंकी हमले में रायबरेली के लाल व वीर जवान शैलेन्द्र प्रताप सिंह शहीद हो गए थे। देर साय शहीद का पार्थिव शरीर उनके निवास मलिकमऊ जवाहर बिहार कालोनी व पैतृक तहसील डलमऊ के ग्राम मीर मीरानपुर (अल्हौरा) पार्थिव शरीर के पहुंचते ही घर व क्षेत्र में कोहराम के मध्य शहीद शैलेन्द्र प्रताप सिंह के अन्तिम दर्शन के लिए पूरा जनपद उमड़ा पड़ा। शहीदों की मजारों पर हर बरस लगेंगे मेले, वतन पे मरने वालों का यही बाकी निशां होंगा। राष्ट्र रक्षा का संकल्प पूरा करते-करते ओढ़ लिया तिरंगे का कफन। जबतक सूरज चांद रहेगा शैलेन्द्र सिंह तेरा नाम रहेगा के नारों से जनपद में गूंज रही। शहीद के पार्थिव शरीर को उनके बेटे कुशाग्र ने पिता को जहां सलामी दी वही जनपद के जिलाधिकारी वैभव श्रीवास्तव व पुलिस अधीक्षक श्लोक कुमार, एमएलसी दिनेश प्रताप सिंह, विधायक अदिति सिंह, दल बहादुर कोरी, राकेश कुमार सिंह, धीरेन्द्र बहादुर सिंह, मनोज कुमार पाण्डेय, राम नरेश रावत, धीरेन्द्र बहादुर सिंह, पूर्व विधायक राम लाल अकेला कई राजनैतिक पार्टियों के प्रतिनिधि व भारत सरकार की महिला एवं बाल विकास तथा टेक्सटाइल मंत्री स्मृति जुबिन ईरानी/प्रतिनिधि आदि ने भी पार्थिव शरीर पर पुष्प अर्पित कर श्रद्धासुमन अर्पित किये। जिलाधिकारी वैभव श्रीवास्तव व पुलिस अधीक्षक श्लोक कुमार समेत कई जनप्रतिनिधि ने शहीद शैलेन्द्र प्रताप सिंह की अर्थी को कंधा दिया और पूरे राजकीय सम्मान के साथ शहीद का अंतिम संस्कार डलमऊ के घाट पर किया गया। बता दें कि रायबरेली के निवासी शहीद शैलेन्द्र प्रताप सिंह श्रीनगर के सोपोर में तैनात थे, ड्यूटी के दौरान आतंकियों से लोहा लेते हुए रायबरेली का लाल शहीद हो गया। जिसके बाद से क्षेत्र व घर में शहीद के परिजनों में कोहराम मचा गया, शहादत की खबर सुनकर घरवालों का रो-रोकर बुरा हाल है तो वहीं इस घटना से पूरा क्षेत्र गमगीन है, शहीद शैलेन्द्र प्रताप सिंह तीन बहनों में एक इकलौता भाई था जो कि श्रीनगर में सीआरपीएफ की 110वी कंपनी में सोपोर में तैनात था। शहीद की शहादत पर गर्व है। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी ने श्रीनगर में आतंकी हमले में जनपद रायबरेली निवासी सी0आर0पी0एफ0 के शहीद जवान श्री शैलेन्द्र प्रताप सिंह के शौर्य और वीरता को नमन करते हुए उन्हें भावभीनी श्रद्धांजलि दी है। मुख्यमंत्री जी ने शहीद के परिजनों को 50 लाख रुपये की आर्थिक सहायता प्रदान करने की घोषणा की है। उन्होंने शहीद के परिवार के एक सदस्य को सरकारी नौकरी देने तथा जनपद की एक सड़क का नामकरण शहीद श्री शैलेन्द्र प्रताप सिंह के नाम पर करने की भी घोषणा की है। मुख्यमंत्री जी ने शहीद श्री शैलेन्द्र प्रताप सिंह के परिजनों के प्रति अपनी संवेदना व्यक्त करते हुए कहा कि शोक की इस घड़ी में राज्य सरकार उनके साथ है। प्रदेश सरकार द्वारा शहीद के परिवार को हर सम्भव मदद प्रदान की जायेगी। घटना पर प्रदेश के मंत्री, केन्द्रीय मंत्री ने अमर शहीद जवान शैलेन्द्र प्रताप सिंह की शहादत पर विनम्र श्रद्धांजलि देते हुए कहा कि दुःख की इस घड़ी में हम सभी शहीद के परिजनों के साथ हैं, ईश्वर दिवंगत आत्मा को शांति प्रदान करें, इतना ही नहीं, जिलाधिकारी वैभव श्रीवास्तव व पुलिस अधीक्षक श्लोक कुमार समेत जनपद के सभी जनप्रतिनिधियों ने शोक सम्वेदना व्यक्त की, अमर शहीद जवान शैलेन्द्र प्रताप सिंह की शहादत पर डीएम ने विनम्र श्रद्धांजलि अर्पित की। तहसील डलमऊ के गंगाघाट पर शहीद शैलेन्द्र प्रताप सिंह को अन्तिम विदाई राजकीय सम्मान के साथ दी गई। शहीद की पत्नी चांदनी सहित पिता नरेन्द्र बहादुर सिंह व माता सिया दुलारी तथा अन्य परिजनों ने भी जनपद रायबरेली के लाल व वीर जवान शहीद शैलेन्द्र प्रताप सिंह को सलामी व हाथ जोड़कर अन्तिम विदाई दी गई। शहीद के पिता नरेन्द्र सिंह ने शहीद के पार्थिव शरीर को मुखाग्नि दी तथा सीआरपीएफ ने शहीद को गाॅड आॅफ आॅनर भी दिया गया तथा डलमऊ घाट पर राजकीय सम्मान के साथ अन्तिम संस्कार किया गया। कृत्य:नायाब टाइम्स
Image
मुत्यु लोक का सच:*आचार्य रजनीश* (१) जब मेरी मृत्यु होगी तो आप मेरे रिश्तेदारों से मिलने आएंगे और मुझे पता भी नहीं चलेगा, तो अभी आ जाओ ना मुझ से मिलने। (२) जब मेरी मृत्यु होगी, तो आप मेरे सारे गुनाह माफ कर देंगे, जिसका मुझे पता भी नहीं चलेगा, तो आज ही माफ कर दो ना। (३) जब मेरी मृत्यु होगी, तो आप मेरी कद्र करेंगे और मेरे बारे में अच्छी बातें कहेंगे, जिसे मैं नहीं सुन सकूँगा, तो अभी कहे दो ना। (४) जब मेरी मृत्यु होगी, तो आपको लगेगा कि इस इन्सान के साथ और वक़्त बिताया होता तो अच्छा होता, तो आज ही आओ ना। इसीलिए कहता हूं कि इन्तजार मत करो, इन्तजार करने में कभी कभी बहुत देर हो जाती है। इस लिये मिलते रहो, माफ कर दो, या माफी माँग लो। *मन "ख्वाईशों" मे अटका रहा* *और* *जिन्दगी हमें "जी "कर चली गई.*
Image
पी०आर०बेलवारियार "सी०जी०एम०-ओ०" बने: *रोडवेज के एमडी ने मुख्य प्रधान प्रबंधक संचालन की कमान, तेजतर्रार पी०आर०बेलवारियार को सौंपी* लखनऊ, रोडवेज की रीढ़ की हड्डी कहे जाने बाले संचालन डिपार्टमेंट को अभी तक अतुल भारती संभाल रहे थे,दिनांक 1अगस्त को एमडी डॉ० राजशेखर जी ने मुख्य प्रधान प्रबंधक "संचालन" की कमान तेजतर्रार पी०आर०बेलवारियार को रोडवेज को अच्छे प्रतिफलों की प्राप्ति होने के आसय से सौंप दी। पी०आर०बेलवारियार ने पद को संभालते ही लखनऊ क्षेत्र के बस स्टेशनों का अपनी पैनी नज़रो से जायज़ा लेते हुए भविष्य में रोडवेज को अच्छे प्रतिफलों को प्राप्त करने के लिए तेज़ शुरुआत कर दी है।पी०आर०बेलवरियार ने अधिकारियों और कर्मचारियों को मेहनत,लगन और आत्मसमपर्ण से कार्य करने के सुझाव भी दिए। कृत्य:नायाब टाइम्स *अस्लामु अलैकुम/शुभप्रभात* हैप्पी मंगलवार
Image