प्रधानमंत्री को ज्ञापन: *अधिकार दिवस सम्पन्न 9 सूत्रीय मांग प्रधानमंत्री को ज्ञापन ई मेल* रायबरेली,राजेश कुमार सिंह "अध्यक्ष" द्वारा पूर्व घोषित कार्यक्रम के अनुसार जनपद के कर्मचारियों शिक्षको ने दिनांक 14 अगस्त 2020 को अधिकार दिवस मनाया तथा 9 सूत्रीय मांगपत्र का ज्ञापन माननीय प्रधानमंत्री जी कैबिनेट सचिव व माननीय मुख्य मंत्री जी को ईमेल किया राम अकबाल बहादुर सिंह अध्यक्ष कर्मचारी शिक्षक मोर्चा ने कहा कि सरकार कर्मचारियों के 9 सूत्रीय माँगो का निराकरण जल्द से जल्द कराये अन्यथा मजबूरन कर्मचारियों को बड़ा आंदोलन करने के लिये बाध्य होना पड़ेगा राजेश कुमार सिंह अध्यक्ष व राजकुमार मंत्री ने बताया कोविड-19 जैसी महामारी से निपटने मे भी कर्मचारियों ने पूरा सहयोग दिया है और देते रहेंगे। स्वास्थ्य विभाग के डॉक्टर, नर्सेज, फार्मासिस्ट, लैब टेक्नीशियन, एक्सरे टेक्नीशियन, एवं अन्य तकनीकी कर्मचारी तथा वार्ड बॉय, सफाई कर्मचारियों ने तो जान जोखिम में डालकर मरीजों की रक्षा कर रहे हैं /रोडवेज के कर्मचारियों ने विभिन्न प्रदेशों में रह रहे मजदूर विद्यार्थियों व लोगो को उनके गृह जनपद व जिले तक पहुंचाया देशभर के कुछ हजार कर्मचारी भी संक्रमित हुए हैं और कुछ ने अपनी जान भी गंवा दी। उनके बच्चे अनाथ हो गए हैं। खेद का विषय है कि जनता तो ऐसे कर्मचारियों को सम्मान दे रही है। इप्सेफ ने भी उन्हें सम्मानित किया है परंतु केंद्र एवं राज्यों की सरकारों ने ना तो आर्थिक सहयोग दिया और ना उन्हें सम्मानित ही किया है। देश के विभागों के अन्य कर्मचारी भी इस बीमारी से संक्रमित एवं भयभीत हुए हैं। देशभर के सैकड़ों कर्मचारियों एवं उनके परिवार की जाने भी जा चुकी है। महोदय, आप देशभर के कर्मचारियों के मुखिया हैं देश आपकी कार्य प्रणाली पर गर्व कर रहा है परंतु खेद है आपकी सरकार ने देश भर के करोड़ों कर्मचारियों की समस्याओं पर ध्यान नहीं दिया है जिससे देशभर के कई करोड़ कर्मचारी मोमबत्ती जलाकर, काला फीता बांधकर, कर्तव्य दिवस मनाकर एवं आज ‘‘अधिकार दिवस’’ मना रहे हैं। इंडियन पब्लिक सर्विस इंप्लाइज फेडरेशन का आपसे आग्रह है कि निम्न मांगों पर मिल बैठकर आपेक्षित निर्णय करने की कृपा करें। अन्यथा विवश होकर देश भर के केंद्रीय एवं राज्य के कर्मचारी बड़ा आंदोलन करने को बाध्य होंगे जिसका उत्तरदायित्व भारत सरकार का होगाः- प्रमुख मांगेः- 1. अंग्रेजों द्वारा बनाए गए आचरण नियमों (कंडक्ट रूल्स) चरित्र पंजिका प्रविष्टि आदि को समाप्त करके कर्मचारियों को लोकतांत्रिक एवं ट्रेड यूनियन अधिकार दिया जाय। 2. ‘‘एक देश-एक सा वेतन भत्ते एवं अन्य सुविधाएं’’ देने के लिए राष्ट्रीय वेतन आयोग का गठन किया जाय। इसकी मांग पहले ही आपसे की जा चुकी है। 3 नई पेंशन स्कीम(राष्ट्रीय पेंशन सिस्टम)2004 की वापसी तथा पुरानी पेंशन की बहाली 4 देशभर के स्वायत्तशासी संस्थाओं (आॅगनबाड़ी) के कर्मचारियों के केन्द्र सरकार के कर्मचारियों की भांति वेतन भत्ते बोनस पेंशन आदि सभी सुविधाएं समान रूप से किया जाए। 5. सार्वजनिक निगमों, स्थानीय निकायों संस्थानों को समाप्त करके निजीकरण ब्यवस्था लागू करने के निर्णय को वापस किया जाय। 6. मोनोपली को दूर करने के लिए सार्वजनिक निगमों को सुदृढ़ किया जाय। इससे महंगाई पर तथा क्वालिटी पर भी असर पड़ेगा। 7. केन्द्र और राज्य सरकारों की विभिन्न स्कीमों एवं प्रोग्रामो में कार्यरत पब्लिक सर्विस कर्मचारियों जैसे कि आउटसोर्सिंग, संविदा (ठेका) आंगनबाड़ी वर्कर्स एवं सहायिका तथा राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन के कर्मचारियों इत्यादि को नियमित करने एवं कर्मचारियों की भांति वेतन भत्ते सुविधाएं देने के लिए एक नीति बनायी जाये 8. राज्यों के कर्मचारी शिक्षकों के 7वें वेतन आयोंग का लाभ केन्द्र की भांति दिया जाय। 9. ग्रुप सी व डी की भर्ती खोलकर आउटसोर्सिंग, संविदा, आंगनबाड़ी, सहायिका एवं मनरेगा की भर्तियों को नियमित किया जाय। राजकुमार ,एस के सिंह, नीरज मौर्य, रामेन्द्र मिश्रा ,राजीव चतुर्वेदी ,जावेद अहमद, अवधेश सिंह, गोपाल सिंह ,शशिबाला सिंह, रजनी त्रिपाठी, सुमन श्रीवास्तव ,सुमित्रा देवी ,अशोक दुबे ,अनिल श्रीवास्तव, दृगपाल वर्मा अभिषेक गुप्ता, भीष्म सिंह, डॉ अनिल गुप्ता ,डॉ सौरभ शर्मा संजय मधेशिया सहित जनपद के समस्त कर्मचारियों की भागीदारी रही। कृत्य:नायाब टाइम्स


Popular posts
Schi baat:*खरी बात * संस्कारी औरत का शरीर केवल उसका पति ही देख सकता है। लेकिन कुछ कुल्टा व चरित्रहीन औरतें अपने शरीर की नुमाइश दुनियां के सामने करती फिरती हैं। समझदार को इशारा ही काफी है। इस पर भी नारीवादी पुरुष और नारी दोनों, कहते हैं, कि यह पहनने वाले की मर्जी है कि वो क्या पहने। बिल्कुल सही, अगर आप सहमत हैं, तो अपने घर की औरतों को, ऐसे ही पहनावा पहनने की सलाह दें। हम तो चुप ही रहेंगे।
Image
पराली न जलाए: *पराली और कृषि अपशिष्ट आदि सहित फसलों के ठंडल भी न जलाये अन्यथा होगी दण्डात्मक कार्यवाही:वैभव श्रीवास्तव* रायबरेली,जिलाधिकारी वैभव श्रीवास्तव ने मा0 राष्ट्रीय हरित न्यायाधिकरण द्वारा फसल अवशेष/पराली जलाने को दण्डनीय अपराध घोषित करने की सूचना के बाद भी जनपद के कुछ किसानों द्वारा पराली जलाने की अप्रिय घटनाए घटित की जा रही है, जिसके क्रम में उत्तर प्रदेश शासन के साथ ही मा0 उच्चतम न्यायालय एवं मा0 हरित न्यायालयकरण (एन0जी0टी0) द्वारा कड़ी कार्यवाही करने के निर्देश दिये गये है, जनपद के समस्त कृषकों एवं जनपदवासी पराली (फसल अवशेष) या किसी भी तरह का कूड़ा, जलाने की घटनाये ग्रामीण एंव नगरी क्षेत्र घटित होती है तो ऐसे व्यक्तियों के विरूद्ध आर्थिक दण्ड एवं विधिक कार्यवाही के साथ ही उनकों देय समस्त शासकीय सुविधाओं एवं अनुदान समाप्त करते हुए यदि वे किसी विशेष लाइसेंस (निबन्धन) के धारक है तो उसे भी समाप्त किया जायेगा और ग्राम पंचायत निर्वाचन हेतु अदेय प्रमाण पत्र भी नही दिया जायेगा। इसके साथ ही घटित घटनाओं से सम्बन्धित ग्राम प्रधान, राजस्वकर्मी, लेखपाल, ग्राम पंचायत अधिकारी एवं ग्राम विकास अधिकारी तथा कृषि विभाग के कर्मचारी एवं पुलिस विभाग से सम्बन्धित हल्का प्रभारी के विरूद्ध कठोर दण्डात्मक कार्यवाही की जायेगी। मा0 राष्ट्रीय हरित न्यायाधिकरण द्वारा पारित आदेश में कृषि अपशिष्ट को जलाये जाने वाले व्यक्ति के विरूद्ध नियमानुसार अर्थदण्ड अधिरोपित किये जाने के निर्देश है। राष्ट्रीय हरित प्राधिकरण द्वारा राष्ट्रीय हरित न्यायाधिकरण अधिनियम की धारा-15 के अन्तर्गत पारित उक्त आदेशों का अनुपालन अत्यन्त आवश्यक है अन्यथा इसी अधिनियम की धारा 24 के अन्तर्गत आरोपित क्षतिपूर्ति की वसूली और धारा-26 के अन्तर्गत उल्लघंन की पुनरावित्त होने पर करावास एवं अर्थदण्ड आरोपित किया जाना प्राविधनित है एवं एक्ट संख्या 14/1981 की धारा 19 के अन्तर्गत अभियोजन की कार्यवाही कर नियमानुसार कारावास या अर्थदण्ड या दोनों से दण्डित कराया जायेगा। उक्त आदेश के अनुपालन में लेखपाल द्वारा क्षतिपूर्ति की वसूली की धनराशि सम्ब.न्धित से भू-राजस्व के बकाया की भांति की जायेगी। ग्राम सभा की बैठक में पराली प्रबन्धन एवं पराली एवं कृषि अपशिष्ट जैसे गन्ने की पत्ती/गन्ना, जलाने पर लगने वाले अर्थदण्ड एवं विधिक कार्यवाही के बारे में बताया कि कोई भी व्यक्ति कृषि अपशिष्ट को नही जलायेगा तथा कृषि अपशिष्ट जलाने पर तत्काल सम्बन्धित थाने पर सूचना दी जायेगी एवं आर्थिक दण्ड विधिक कार्यवाही करायी जायेगी। जिलाधिकारी ने कहा है कि किसान पराली व कृषि अपशिष्ट जैसे गन्ने की सूखी पत्ती या फसलों के डंठल इत्यादि न जलायें। पराली और कृषि अपशिष्ट न जलाने पर तहसील व विकास खण्ड, ग्राम स्तरों पर जागरूकता कार्यक्रम चलाकर आम आदमी को जागरूक भी किया जाये। उन्होंने कहा कि पराली जलाने पर पूरी तरह से शासन द्वारा पाबंदी लगाई गई है। शासन के निर्देशानुसार जनपद में पराली जाने पर कड़ी से अनुपालन भी कराया जा रहा है। कृत्य:नायाब टाइम्स *अस्लामु अलैकुम/शुभरात्रि*
Image
एल-1 अस्पताल का निरीक्षण: *एल-1 चिकित्सालय का निरीक्षण करते हुए जिला विधिक सेवा प्राधिकरण के सचिव कोविड एल-1 चिकित्सालय का किया गया निरीक्षण* रायबरेली,आज दिनाँक-18 सितम्बर, 2020 मा0 राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण के निर्देशानुसार व जिला एवं सत्र न्यायाधीश अब्दुल शाहिद की अध्यक्ष जिला विधिक सेवा प्राधिकरण रायबरेली के दिशा-निर्देशन में पूर्वाहन 11ः30 बजे रेयान इण्टरनेशनल स्कूल को एल1 क्षेणी के अस्पताल के रूप में स्थापित किया गया है एल 1 में रखे गये कोरोना के मरीजों की उचित देख-रेख के सम्बन्ध में मयंक जायसवाल सचिव जिला विधिक सेवा प्राधिकरण द्वारा निरीक्षण किया गया। निरीक्षण के दौरान मुख्य चिकित्साधिकारी डा0 वीरेन्द्र सिंह की देख-रेख में हुई। एल 1 हास्पिटल में वर्तमान में कुल 133 मरीज है। महिलाये 25 पुरुष 101 व 15 वर्ष से कम उम्र के 7 बच्चे है जिनका उपचार चल रहा है। सचिव द्वारा वहां दिये जाने वाले खाने के पैकेट को खोलकर उसमें दिये हुए खाने की गुणवत्ता का परीक्षण किया गया। निरीक्षण के समय मुख्य चिकित्साधिकारी डा0 वीरेन्द्र सिंह व प्रभारी डा0 आनन्द गुप्ता पुरुष पराविधिक स्वयं सेवक पवन श्रीवास्तव द्वारा पुरुषों से व पराविधिक स्वयं सेविका अमिता गुप्ता द्वारा उपस्थित महिलाओं व बच्चों से उनकी समस्याओं के सम्बन्ध में पूछताछ की गयी। वहाँ उपस्थित महिला मरीज रानी पुत्री दुर्गा प्रसाद, पंकज यादव पुत्र शिवकरन यादव, शिल्पी रानी, आशीष अवस्थी ने बताया कि खाना, नाश्ता सही समय पर सही मिल रहा है। अस्पताल में साफ-सफाई की व्यवस्था सही मिली। मरीज मनीष अवस्थी द्वारा बताया गया कि नीचे की दो शौचालय चोक है जिसे साफ करवाने का आश्वासन प्रभारी अधिकारी द्वारा दिया गया। मरीजों की विधिक सहायता पैनल अधिवक्ता जय सिंह यादव उपस्थित रहे। मुख्य चिकित्साधिकारी को निर्देशित किया गया कि मरीजों की देख-रेख हेतु उचित कदम उठाये व उनकी किसी समस्या का त्वरित निस्तारण करे। कृत्य:नायाब टाइम्स
Image
X.PM.: कुछ लोग ज़मीन पर राज करते हैं और कु्छ लोग दिलों पर. मरहूम राजीव गांधी एक ऐसी शख़्सियत थे, जिन्होंने ज़मीन पर ही नहीं, बल्कि दिलों पर भी हुकूमत की. वह भले ही आज इस दुनिया में नहीं हैं, लेकिन हमारे दिलों में आज भी ज़िंदा हैं और हमेशा ज़िन्दा रहेंगे... 🙏🏻🌹🙏🏻 स्वर्गीय राजीव गांधी को भावभीनी श्रद्धांजली...💐
Image
ग़ालिब की याद :*अंजुमन तर्कक्की उर्दू * लखनऊ। अंजुमन तरक्की उर्दू की जानिब आज अमीनाबाद हाजी नियामत उल्ला बिल्डिंग में आम और ग़ालिब पर एक नशिस्त हुई।जिसकी सदारत चौधरी शरफुद्दीन साहब व निज़ामत महमूद ज़फ़र रहमानी साहब ने किया।इस नशिस्त में शहर व बाहर से लोग भी शामिल हुये।जिनमे सीनियर एडवोकेट जफरयाब जीलानी,शारिब रूदौलवी,डॉक्टर सुल्तान शाकिर हाशमी व शहर की कई समाजिक लोग शामिल हुये। इस नशिस्त में लोगो ने उर्दू ज़ुबान को बढ़ावा देने पर ज़ोर दिया गया।उर्दू ज़ुबान मीठी ज़ुबान है लोगो को जोड़ती भी,लोगो से उर्दू अखबार खुद को पढ़ने के साथ लोगो को भो पढ़ने के लिये कहे,बाद आम व ग़ालिब पर लोगो ने शेर पढ़े।
Image