मुख्यमंत्री की बैठक: *मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ वीडियों काॅन्फ्रेंसिंग के माध्यम से जनप्रतिनिधियों डीएम अन्य अधिकारियों से साथ समीक्षा बैठक करते हुए मुख्यमंत्री जी ने वीडियो काॅन्फ्रेंसिंग के माध्यम से लखनऊ मण्डल के विकास कार्यो की समीक्षा में दिये निर्देश।* रायबरेली,दिनाँक-25 सितम्बर, 2020 को उत्तर प्रदेश के युवा मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी ने कोविड-19 के दृष्टिगत रखते हुए विकास व निर्माण कार्यो को युद्ध स्तर पर तेजी से संचालित करने के निर्देश दिये है। उन्होंने कहा कि विकास व निर्माण कार्य को गुणवत्तापूर्ण, मानक के अनुरूप समयबद्ध तरीके से पूर्ण किये जाए। कार्यो को समय रहते हुए पूर्ण किये जाने पर जहां लागत में कमी होती है वही जनता को योजनाओं एवं परियोजनाओं का समय से लाभ भी मिलता है। निर्माणाधीन परियोजनाओं के लिए धनराशि नियमानुसार और समय से निर्गत किये जाने के निर्देश देते हुए मा0 मुख्यमंत्री जी ने कहा कि धनराशि के अभाव में निर्माण कार्य बाधित नही होना चाहिए। विकास परियोजनाओं की भौतिक प्रगति के सम्बन्ध में यूटिलाइजेशन सर्टिफिकेट समय से प्रेषित किये जाए, जिससे धनराशि शासन द्वारा समय से निर्गत की जा सके। मुख्यमंत्री जी ने जनपद रायबरेली सहित लखनऊ मण्डल के सभी जनपदों के जनप्रतिनिधियों से संवाद किया और जनपद सहित मण्डल में संचालित परियोजनाओं की प्रगति के सम्बन्ध में जानकारी प्राप्त की। विकास योजनाओं की प्रगति के सम्बन्ध में फीडबैक प्राप्त करते हुए जनप्रतिनिधियों द्वारा मुख्यमंत्री जी का आभार भी प्रकट किया गया और कहा कि मुख्यमंत्री जी द्वारा तेजी से विकास कार्यो के संचालन में वर्तमान सरकार के समय में लखनऊ मण्डल सहित प्रदेश का विकास हुआ उतना कभी नही हुआ है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी ने अपने सरकारी आवास पर वीडियों काॅन्फ्रेंसिंग के माध्यम से समीक्षा करते हुए कहा कि जिला प्रशासन और जनप्रतिनिधि बेहतर समन्वय बनाते हुए विकास की गति में तेजी लाये। शिलान्यास तथा लोकार्पण कार्यो को जनप्रतिनिधियों द्वारा ही कराया जाए। परियोजनाओं से जनप्रतिनिधियों को जोड़ते हुए उनके नाम शिलापट्ट पर अंकित किये जाए। मुख्यमंत्री जी ने यह भी निर्देश दिये है कि आगामी पर्वाे को ध्यान में रखते हुए जनसामान्य लोगों को कोविड-19 कोरोना वायरस संक्रमण से बचाव व रोकथाम के लिए विशेष रूप से जागरूक किया जाए तथा आगामी पर्व व त्योहारों को सोशल डिस्टेसिंग व फेस कवर/मास्क का प्रयोग व स्वास्थ्य प्रोटोकाॅल का पूर्ण पालन कतरे हुए घरो पर रहकर ही मनाये जाए एवं कोई भी सार्वजनिक आयोजन न किये जाए। पर्वो व त्योहारों के पूर्व ही सड़कों को गड्ढामुक्त किये जाने तथा नवनिर्माण कार्यो को गुणवत्तापूर्ण ढंग से किए जाने के निर्देश दिये। तकनीकी आधारित व्यवस्थाओं को अपनाते हुए योग्य एवं अनुभवी चिकित्सकों द्वारा अधिक से अधिक गम्भीर रोगियों का बेहतर इलाज सुनिश्चित किया जाए तथा कोरोना संक्रमण आदि बीमारियों की रोकथाम के लिए कारगर रणनीतियां अपनाते हुए कार्य किये जाए। कोरोना से लड़ना भी है और तेजी से विकास कार्य संचालित करने हंै। इसके दृष्टिगत वैश्विक महामारी कोरोना से बचाव के लिए पूरी सतर्कता व सावधानी अपनाते हुए तथा कोविड-19 गाइडलाइन का पालन करें तथा कोविड कन्ट्रोल रूम में आने वाली शिकायतों को त्वरित गुणवत्तापूर्ण निस्तारण करें। कन्टेनमेन्ट जोन को प्रभावी ढ़ंग से रखंे। इण्टीग्रेटेड कमाण्ड एण्ड कंट्रोल सेन्टर हर जनपद में 24 घण्टे सक्रिय रहें। होम आइसोलेशन में रह रहे कोविड मरीजों से प्रतिदिन बेहतर संवाद स्थापित कर उसका कुशलक्षेम्य पूछा जाये यदि कोई समस्या हो तो तत्काल निराकरण करने के साथ ही संवेदशील कैटेगरी के लोगों पर फोकस करते हुए उनकी टेस्टिंग की जाये। हाई रिस्क लोगों के एण्टीजेन टेस्ट निगेटिव आने पर उनका आर0टी0पी0सी0आर0 कराते हुए रोग की स्थिति को कन्फर्म किया जाए। जनपद की सर्विलांस टीमें पूरी तरह से सक्रिय रहे तथा एम्बुलेंस सेवाए बेहतर ढंग से संचालित होने के साथ ही कोविड-19 के पाॅजिटिवविटी रेट न्यूनतम रखने के लिए जरूरी उपाय अपनाये जाए तथा पूरी सतर्कता बरती जाए। कोविड-19 प्रोटोकाॅल और सोशल डिस्टेसिंग का पालन करते हुए 1 अक्टूबर 2020 से शुरू होने वाली धान केन्द्र केन्द्रों पर सुगम व्यवस्था की जाए। किसान को न्यूनतम समर्थन मूल्य से कम धनराशि न मिले इस पर विशेष ध्यान दिया जाए। लखनऊ में कैसर अस्पताल तैयार हो गया है जिसका शीघ्र लोकापर्ण होगा। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी ने कहा कि ओ0डी0ओ0पी0 के तहत चयनित उत्पादों को बढ़ावा दिया जाए के निर्देश दिये और उत्पादों के सम्बन्ध में हस्तशिल्पों को प्रशिक्षित करें तथा प्रदर्शनी व मार्केंटिग के माध्यम से उन्हें बढ़ावा दिया जाए। खाद्यान्न भण्डारण हेतु गोदाम, कोल्ड स्टोरेज निर्माण आदि पर जोर दिया जाए तथा बेरोजगारों व कामगारों को आत्मनिर्भर योजना में सम्मिलित कर उन्हें स्वरोजगार उपलब्ध कराया जाए। केन्द्र व राज्य सरकार द्वारा संचालित विकास एवं कल्याणकारी योजनाओं के माध्यम से प्रदेश की जनता को लाभांवित करें। जिसके लिए सरकार लगातार प्रतिबद्ध है यही नहीं लापरवाही व उदासीनता बरते जाने पर जवाबदेही तय की जाएगी। मुख्यमंत्री जी ने कानून व्यवस्था के बारे में कहा कि हर घटना की सूचना पर तत्काल जिम्मेदार अधिकारी पहुंचे और पीड़ितों की मदद करें। घरेलू हिंसा या महिला उत्पीड़न तथा अन्य म.िहलाओं से जुड़े मामलों में पुलिस अत्यधिक गम्भीर रहे वरिष्ठ नागरिकों का पुलिस तन्त्र सम्मान करें। अवैध शराब कारोबार पर सख्ती बरती जाए और आमजन मानस को बेहतर सुख सुविधाओं व सुरक्षा के बीच रखे। मा0 मुख्यमंत्री जी ने कहा कि विकास कार्यो में जनप्रतिनिधियों को जोड़ा जाए। मा0 मुख्यमंत्री जी ने कहा कि राजस्व संग्रह पर विशेष ध्यान दिया जाए, जीएसटी के तहत व्यापारियों का अधिक से अधिक पंजीकरण कराया जाए। उन्होंने जिलाधिकारियों को राजस्व संग्रह की विभागवार पाक्षिक समीक्षा करने के भी निर्देश दिये। उन्होंने कहा कि खाद की कालाबाजारी करने वाले तत्वों के खिलाफ सख्त कार्यवाही करते हुए उर्वरक आपूर्ति की प्रभावी देख रेख की जाए। उन्होंने कहा कि कोविड-19 के प्रोटोकाल का पालन कराते हुए सम्पूर्ण समाधान दिवस आयोजित किये जाने के निर्देश दिये। उन्होंने कहा कि सामुदायिक शौचलयों के लिए ऐसे स्थल का चयन किया जाए जिससे अधिक से अधिक लोग इसका उपयोग कर सकें। सामुदायिक शौचलयों की नियमित सफाई की व्यवस्था भी सुनिश्चित की जाए। प्रधानमंत्री व मुख्यमंत्री आवास योजना के निमाण कार्यो तथा स्वच्छ भारत मिशन में निर्मित शैचालयों की जियों टैगिंग कराने के निर्देश भी दिये। उन्होनें कहा कि गो-आश्रय स्थलों को सुवयवस्थित ढंग से संचालित किया जाए। जिलाधिकारी वैभव श्रीवास्तव ने जानकारी देते हुए बताया कि जनपद रायबरेली में 129792.10 लाख रूपये से 236.41 कि0मी0 पहुंच मार्ग, 1130.00 लाख से 3 अद्द सेतुओं का निर्माण, 13522.00 लाख से 3120.95 कि0मी0 सड़कों को गड्ढा मुक्त किया गया। 264.23 लाख से आवासीय परिसर लालगंज तहसील का नि.र्माण, 553.77 लाख से सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र सलोन व 1747.55 लाख से इन्स्टीटयूट ड्राइविंग एण्ड रिसर्च का निर्माण, 1377.00 लाख से राजकीय पालिटेक्निक बछरावा का निर्माण, 277.24 लाख से राजकीय बालिका इण्टर काले हाजीपुर का निर्माण, 250.47 लाख से आश्रय योजना मुशीगंज निर्माण सहित अनेक अवस्थापना सुविधाए आमजनमानस के लिए लाभ हेतु प्रदान की गई है। कृषि में ऋण माफी योजना में 80800 किसान लाभान्वित हुए। पारदर्शी किसान सेवा योजनान्तर्गत लगभग 90 हजार किसान लाभान्वित, प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना से 341974 किसान लाभान्वित, प्रधानमंत्री सम्मान निधि योजना से 336745 किसान लाभान्वित 1757.781 कि0मी0 नहरों की सिल्ट सफाई का कार्य किया गया। स्वच्छत भारत ग्रामीण अन्तर्गत रूपये 436.7 करोड़ की धनराशि व्यय करते हुए 418817 व्यक्तिगत शौचालयों का निर्माण, नमांमि गंगे योजनान्तर्गत 8.84 करोड़ की धनराशि व्यय करते हुए गंगा के किनारे 29 ग्रामों में ओडीएफ आच्छादित सहित अन्य कार्य किये गये है। 7 दिवसीय गंगा मेला व विकास प्रदर्शनी का सफल आयोजन किया गया। प्रधानमंत्री आवास योजना ग्रामीण व शहरी के तहत 25268 आवासों को निर्माण व मुख्यमंत्री आवास योजनान्तर्गत सौकड़ों आवास निर्मित किये गये तथा कार्य प्रगति पर है। प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजनान्तर्गत 203381 लाभार्थियों को गैस कनेक्शन, राष्ट्रीय ग्रामीण पेयजल योजना के तहत 7034 करोड़ से 12 पाईप पेयजल योजना में दो पूर्ण तथा अन्य 10 का कार्य प्रगति पर है। कोविड-19 कोरोना संक्रमण के दृष्टिगत जनपद में अबतक 2691 मरीज सक्रमित हुए जिसमें से एक्टिव केस 562 है तथा रिकवर्ड केस 2054 है। होमआइसोलेशन में 182 मरीज है। जनपद में कोरेाना संक्रमित मरीजों की दर बेहतर है साथ ही स्वास्थ्य प्रोटोकाल के अनुरूप होमआइसोलेशन व एल-1 तथा एल-2 मरीजों पर विशेष ध्यान देते हुए देखभाल सहित बेहतर इलाज किया जा रहा है। जिससें 77.33 प्रतिशत रिकवर्ड रेट दर है। इस मौके पर एमएलसी दिनेश प्रताप सिंह, विधायक दल बहादुर कोरी सहित जनपद जिलाधिकारी वैभ्.ाव श्रीवास्तव, मुख्य विकास अधिकारी अभिषेक गोयल, मुख्य चिकित्साधिकारी डा0 वीरेन्द्र सिंह, एडी सूचना प्रमोद कुमार आदि प्रमुख अधिकारी उपस्थित थे तथा विधायक राकेश कुमार सिंह, धीरेन्द्र बहादुर सिंह घरों से वीडियों काॅन्फ्रेंसिंग में प्रतिभाग किया गया। कृत्य:नायाब टाइम्स


Popular posts
Schi baat:*खरी बात * संस्कारी औरत का शरीर केवल उसका पति ही देख सकता है। लेकिन कुछ कुल्टा व चरित्रहीन औरतें अपने शरीर की नुमाइश दुनियां के सामने करती फिरती हैं। समझदार को इशारा ही काफी है। इस पर भी नारीवादी पुरुष और नारी दोनों, कहते हैं, कि यह पहनने वाले की मर्जी है कि वो क्या पहने। बिल्कुल सही, अगर आप सहमत हैं, तो अपने घर की औरतों को, ऐसे ही पहनावा पहनने की सलाह दें। हम तो चुप ही रहेंगे।
Image
दीप जलाकर प्रकाश पर्व : *एस०पी०जी०आई० के चिकित्सको की कोरोना पर विजय,कनिका की छठी जाँच रिपोर्ट आई निगेटिव* लखनऊ,एस०पी०जी०आई० में 20मार्च से लगातार कोरोना पॉजिटिव कनिका कपूर और डॉक्टरों के बीच चल रहा युद्ध अब समाप्ति के कगार पर आ गया है,लगातार पाँच जाँच रिपोर्ट पॉजिटिव आने के बाद भी डॉक्टरों ने हार नही मानी और लगातार कनिका का उपचार करते रहे। छठी रिपोर्ट निगेटिव आने पर कनिका के परिजनों और डॉक्टरों में खुशी की लहर दौड़ गयी और कनिका को दुबारा ज़िन्दगी खुद को पहचान ने पर ईस्वर की दया से दान स्वरूपइस मिली । *इस घटना ने एक बात तो सत्य साबित कर दी है कि कोरोना से बचाव हर संभव है।* इस उदाहरण से सभी देश वासियों के बीच एक संदेश जा रहा है कि सरकार द्वारा दिये गए निर्देशों का पालन करते रहने से कोरोना जैसी प्राणघातक महामारी पर विजय पाना कोई मुश्किल काम नही। कृत्य:नायाब टाइम्स
Image
RTI: एक और खबर जरा हट के ... 🤔🤔🤔🤔 वाह खट्टर साहब वाह .. क्या जवाब मिला है आपकी सरकार से !!! चंडीगढ़: सूचना का अधिकार (RTI) के तहत मांगी गई जानकारी से पता चला है कि हरियाणा सरकार के पास मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर राज्य सरकार के कई कैबिनेट मंत्रियों और राज्यपाल सत्यदेव नारायण आर्य की नागरिकता से जुड़े दस्तावेज नहीं हैं. 20 जनवरी को पानीपत के रहने वाले एक्टिविस्ट पी.पी. कपूर ने इस संबंध में जानकारी पाने के लिए RTI दाखिल की थी. इस RTI में उन्हें जो जवाब मिला, वह काफी हैरान करने वाला था. पी.पी. कपूर की RTI में हरियाणा की पब्लिक इंफॉर्मेशन ऑफिसर पूनम राठी ने कहा कि उनके रिकॉर्ड में इस संबंध में कोई जानकारी नहीं है. उन्होंने कहा, 'माननीयों के नागरिकता संबंधी दस्तावेज चुनाव आयोग के पास हो सकते हैं.' बताते चलें कि पिछले साल सितंबर में विधानसभा चुनाव के दौरान मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने वादा किया था कि वह अवैध प्रवासियों को हरियाणा से निकालने के लिए राज्य में राष्ट्रीय नागरिक पंजी (NRC) लागू करेंगे.
Image
मंगलमय : *आपको और आपके परिवार को होली की हार्दिक शुभकामनाएं* मैं ईस्वर से प्राथना करता हूँ कि मृत्यु लोक पर आप स्वस्थ रहें। "होली के इस पर्व पर आप का जीवन हमेशा रंगों की तरह खिलता व महकता रहे,आपके वे सारे सपने पूरे हो जो आप के अपनो ने परिवार के साथ देखे हो !" नायाब अली लखनवी "सम्पादक"
Image
लॉक डाउन 17 मई 2020 तक: *उत्तर प्रदेश के विभाजित जिलों में सरकार द्वारा दी गयी अलग-अलग गाइडलाइन* भारत सरकार द्वारा जारी की गई अलग-अलग क्षेत्रों में गाइडलाइन 3मई के बाद लागू हो जाएगी,जिसमे आम जनमानस को कुछ छूट होगी। *रेड जोन* रेड जोन के जिलों में जारी गाइडलाइन के अनुसार, चार पहिया वाहन में ड्राइवर सहित 2 लोग ही बैठ सकेंगे। औद्योगिक क्षेत्रों में जैसे जरूरी संसाधन शोसल डिस्टनसिंग का पालन करते हुए कार्य कर सकेंगी। सड़क निर्माण का कार्य भी सोशल डिस्टनसिंग का पालन करते हुए शुरू हो जाएगा। कालोनियों में ज़रूरत के सामानों की दुकाने भी बिना भीड़ लगाए खुलने के लिए भी अनुमति दे दी गयी है। प्राइवेट स्तर के कार्यालय 33℅ कर्मचारियों के साथ भी खुलने की अनुमति प्रदान की गई है। *ऑरेंज ज़ोन* ऑरेंज ज़ोन में ऑटो रिक्शा में मात्र एक यात्री को बैठाने की अनुमति प्रदान की गई है। दो पहिया वाहन पर मात्र अकेले चालक दारा ही चलने की अनुमति दी गयी है। *ग्रीन ज़ोन* रेड जोन,ऑरेंज ज़ोन में मिली छूट के अतिरिक्त बसों में 50% ही यात्रियों को बैठकर सभी यात्रियों को मास्क लगाकर चलने की अनुमति दी गयी है। उक्त सभी ज़ोन में स्कूल, कॉलेज,मॉल,सिनेमा हाल,होटल,रेस्टोरेंट, भीड़भाड़ बाली सभी जगहों जैसे धार्मिक स्थलों, 65 वर्ष के महिला/पुरुषों एवं 10 वर्ष के बच्चों को अनुमति प्रदान नही की गई है। सभी क्षेत्रों में शाम 7 बजे से सुबह 7 बजे तक आपातकाल को छोड़कर घर से निकलना प्रतिवंधित रहेगा। *कृत्य:नायाब टाइम्स*
Image