पोषण पर बैठक जिला मजिस्ट्रेट: *डीएम को जिला पोषण समिति की बैठक में सम्पन्न हुए पोषण माह के कार्यो की दी गई जानकारीयाँ। कुपोषित परिवारो को अच्छा पोषण उपलब्ध कराने के लिए अधिक से अधिक किचन गार्डेन किये जाए विकसित: वैभव श्रीवास्तव* रायबरेली,आज दिनाँक,01 अक्टूबर, 2020 को जनपद में भारत सरकार व प्रदेश सरकार के निर्देशानुसार जनपद में विगत माह 30 सितम्बर तक राष्ट्रीय पोषण मिशन के अन्तर्गत राष्ट्रीय पोषण माह पोषण शपथ के साथ सम्पन्न हुआ। जिलाधिकारी वैभव श्रीवास्तव ने कहा कि उत्तम पोषण, उत्तर प्रदेश रोशन को पोषण की जागरूकता व स्वस्थ राष्ट की कुंजी को जन सहयोग आंदोलन के माध्यम से अधिक सशक्त किया जा सकता हैं। कुपोषण तीन प्रकार के होते है जिसमें सामान्य वेस्टेड (सैम/मैम), स्टेन्टेड (नाटापन) व अदृष्य (भ्पककमद ीनदहमत) सूक्ष्म पोषक तत्वों की कमी, एनीमिया विटामिन ए व जिंक होते हैं। कुपोषण से मुक्ति के लिए 0-5 वर्ष के बच्चों के साथ ही महिलाए, किशोरियों के स्वास्थ्य की सुरक्षा जरूरी है। इसके लिए सुपोषित जनपद, प्रदेश के लिए प्रत्येक नागरिक की सहभागिता जरूरी है। बचत भवन में जिला पोषण समिति की आयोजित बैठक में जिलाधिकारी ने निर्देश दिये कि पोषण वाटिका/किचन गार्डेन का निर्माण व वृक्षारोपण आदि कार्य ग्राम्य विकास, पंचायती राज व महिला एवं बाल विकास, उद्यान विभाग, कृषि विभाग, बीएसए आदि से समेकित प्रयासों से अधिक से अधिक वृक्षारोपण किये जाए। ऐसे वृक्षों का रोपण किया जाए जिससे पोषक तत्व व विटामिन अधिक हो। पोषण देने वाले पौधो व वृक्षों का रोपण किया जाए। गम्भवती महिलाए किशोरियों व बच्चों में पोषण तत्वों की कमी न हो इसके लिए शरीर में इम्यूनिटी भी जरूरी है काढ़ा आदि भी अवश्य दिया जाए। सेजन की पत्तियां व फल से रक्त की कमी को दूर किया जा सकता है। रक्त की कमी से क्या-क्या बीमारियां महिलाओं व किशोरियों में उत्पन्न होती है। इसमें क्या खाना चाहिए आदि सहित स्वास्थ्य व साफ-सफाई के बारे में विस्तृत जानकारियां दी जाए। आगनबाड़ी केन्द्रों द्वारा शरीर की ताकत व क्षमता विकसित करने के लिए विभिन्न प्रकार की रेसीपी बताए जाए तथा उसके खान-पान से क्या फायदे है आंगनबाड़ी कार्यकत्री व आशाओं द्वारा बताया जाए। उन्होंने कहा कि कायाकल्प योजनान्तर्गत कराये जा रहे कार्यो की जानकारी प्राप्त करते हुए निर्देश दिये कि कायाकल्प के दौरान जो भी कार्य किये जाये व गुणवत्ता व मानक के अनुरूप कराये करें। जिलाधिकारी ने कहा कि राष्ट्रीय पोषण माह का आयोजन का उद्देश्य बच्चों महिलाओं किशोरिया जो कुपोषित है उनके स्वास्थ से जुड़ा राष्ट्रीय कार्यक्रम है जिसे आगे भी चलाया जाए व किसी भी प्रकार की शिथिलता न बरती जाये। उन्होने सभी एसडीएमए बीडीओ तथा मुख्य पशु चिकित्साधिकारी को निर्देश दिये कि मुख्यमंत्री निराश्रित/बेसहारा गोवंश सहभागिता योजना जिसमें पूर्व में ही व्यवस्था है जिसका अनुपालन करते हुये कार्यवाही की जाये। उन्होने कहा कि कुपोषित ऐसे परिवारो को अच्छा पोषण उपलब्ध कराने के लिए किचन गार्डेन विकसित करने के लिए प्रेरित व प्रोत्साहित किया जाये। उन्होंने आगनबाड़ी कार्यकत्री व आशाओं आदि को निर्देश दिये कि कोविड-19 कोरोना संक्रमण को दृष्टिगत रखते हुए घर-घर कोरोना सम्बन्धित मरीजों व जिनमें बुखार, जुखाम, सांस फुलने वाले मरीजों की जानकारी दें जिससें मरीजों को समय से इलाज किया जा सके और मृत्यु दर में कमी लाए जा सके। उन्होंने रक्त की कमी महिलाए, कुपोषित बच्चो व किशोरियांे आदि की भी जानकारी पोषण से सम्बन्धित रखने के निर्देश दिये तथा कुपोषित बच्चों को पोषित बनाने की कार्यवाही की जाए। जिला कार्यक्रम अधिकारी शरद कुमार त्रिपाठी ने सम्पन्न हुए राष्ट्रीय पोषण माह के दौरान जनपद में कराये गये पोषण सम्बन्धित कार्यक्रमों की जानकारी दी। जिला स्तर पर कार्यक्रम के शुभारम्भ के साथ ही सभी विकास खण्डों व दूरदराज क्षेत्रों में पोषण माह का आयोजन किया गया। राष्ट्रीय पोषण माह/पोषण मिशन अभियान का मुख्य उद्देश्य कुपोषण में कमी लाना है। खुले में शौच, दस्त, साफ पानी की कमी, अपर्याप्त भोजन, स्तनपान एवं उपरी आहार से बच्चे को वंचित रखना आदि कुपोषण के कारण रहे हैं। गर्भावस्था के दौरान एवं बच्चे के जन्म के बाद से 730 दिन (कुल 1000 दिन) तक बच्चे की सही देखभाल, मां को पोषक आहार देकर, आइरन का सेवन प्रसव पूर्ण जांचे कराकर, नियमित टीकाकरण से बच्चों को कुपोषित होने से बचाया जा सकता है इसी जानकारी दी गई। नवजात शिशुओं को बचाने के लिए बच्चा पैदा होने लगभग कुछ घण्टे के बाद उसको मा का दूध पिलाना अत्यधिक जरूरी है इस पर सभी सीडीपीओ अधिकारी/कर्मचारी मुख्य सेविकाए, आगनबाड़ी कार्यकत्री आदि ने भी अभियान के दौरान जानकारी दी। कुपोषण को कम करने के लिए घर-घर व स्कूल कालेजों में जहां पर स्थान चिन्हित कर किंचन गार्डेन तैयार कर फल, सब्जी आदि पैदा करके पोषक तत्व युक्त आहार खाए सदैव अच्छी सेहत पाए की भी जानकारी दी गई। बच्चों का वजन, साफ-सफाई, पोषित आहार, गोवश से फायदे आदि संचारी रोगों पर नियंत्रण, शुद्ध पेयजल, पराली जलाने से किसानों को नुकसान आदि के भी बारे में बताया गया। उन्होंने कहा कि जिला सूचना विभाग द्वारा आये हुए आमजनमानस व आंगनबाड़ी कार्यकत्री को कोरोना जागरूकता से सम्बन्धि कोरोना से बचना है असान बातो का रखे ध्यान व 6 विधानसभाओं की सुशासन के 3 वर्ष विकास पुस्तिका को भी आमजनमानस में मुहैया कराई गई। इस मौके पर मुख्य विकास अधिकारी अभिषेक गोयल ने सम्बन्धित अधिकारियों व सीडीपीओं आदि को उचित दिशा निर्देश दिये। कृत्य:नायाब टाइम्स


Popular posts
स्पोर्ट्समैन जाफ़र के सम्मान में क्रिकेट मैच: *जाफ़र मेहदी वरिष्ठ केन्द्र प्रभारी कैसरबाग डिपो कल 30 नवम्बर 2020 सोमवार को सेवानिवृत्त हो जाएगे उनके सम्मान में क्रिकेट मैच परिवहन निगम ने आयोजित किया* लखनऊ, उत्तर प्रदेश राज्य सड़क परिवहन निगम के स्पोर्ट्समैन जाफ़र मेहंदी जो 30 नवम्बर 2020 को सेवानिवृत्त हो जाएंगे को "मुख्य महाप्रबंधक प्रशासन" सन्तोष कुमार दूबे "वरि०पी०सी०एस०" द्वारा उनके सम्मान में क्रिकेट मैच आयोजित कर उनका सम्मान किया जायेगा , जिसमें एहम किरदार पी०आर०बेलवारिया "मुख्य महाप्रबंधक "संचालन" व पल्लव बोस क्षेत्रीय प्रबन्धक-लखनऊ एवं प्रशांत दीक्षित "प्रभारी स०क्षे०प्रबन्धक" हैं जो * अवध बस स्टेशन कमता लखनऊ* के पद पर तैनात हैं , इस समय *कैसरबाग डिपो* के भी "प्रभारी स०क्षे०प्र०" हैं। कैसरबाग डिपो के वरिष्ठ केन्द्र प्रभारी जाफ़र मेहदी साहब दिनाँक,30 नवम्बर 2020 को कल सेवानिवृत्त हो जायेगे। जाफ़र मेहदी साहब की भर्ती स्पोर्ट्स कोटा के तहत 1987 में परिवहन निगम में हुई थी। जो पछले तीन सालो से दो धारी तलवार के चपेट कि मार झेल रहे थे अब आज़ादी उनके हाथ लगी मेंहदी साहब नायाब ही नहीं तारीफे काबिल हैं उनकी जितनी भी बड़ाई की जाय कम हैl कृत्य:नायाब टाइम्स
Image
जाफ़र मेहंदी की बल्ले बल्ले: * परिवहन निगम के वरिष्ठ खिलाड़ी जाफर मेंहदी के सम्मान में एक मैत्री मैच का आयोजन किया गया। मैच के मुख्य अतिथि एस के दुबे "मुख्य प्रधान प्रबन्धक प्रशासन"* लखनऊ,आज दिनांक 29 नवम्बर 2020 को कॉल्विन क्रिकेट ग्राउंड पर परिवहन निगम के वरिष्ठ खिलाड़ी जाफर मेंहदी के सम्मान में एक मैत्री मैच का आयोजन किया गया । इस मैच के मुख्य अतिथि एस के दुबे (मुख्य प्रधान प्रबंधक प्रशासन) थे । मुख्य प्रधान प्रबंधक प्राविधिक जयदीप वर्मा एवं प्रधान प्रबंधक संचालक सुनील प्रसाद भी मौजूद रहे । इस मैच में परिवहन निगम मुख्यालय ने टॉस जीतकर पहले बैटिंग करते हुए योगेंद्र सेठ की 79 रन की शानदार पारी की बदौलत 20 ओवर में 141 रन बनाए । जवाब में खेलने उतरी कैसरबाग डिपो की टीम ने सुनील मिश्रा के नाबाद 51 व नितेश श्रीवास्तव के 25 रन की बदौलत 19.4 ओवरों में लक्ष्य हासिल कर लिया । मुख्यालय की तरफ से मनोज श्रीवास्तव ने दो व जयदीप वर्मा ने एक विकेट लिया । कैसरबाग की तरफ से रजनीश मिश्रा ने 4 ओवरों में 17 रन देकर एक विकेट , नितेश श्रीवास्तव ने एक विकेट लिया । अंत में प्रधान प्रबंधक प्रशासन ने *जाफर मेहंदी* को सम्मानित किया । *योगेंद्र सेठ* को मैन ऑफ द मैच का पुरस्कार दिया गया । मुख्यालय की तरफ से टीम का नेतृत्व जयदीप वर्मा व कैसरबाग डिपो की तरफ से टीम का नेतृत्व शशिकांत सिंह ने किया । कृत्य:नायाब टाइम्स
Image
गुरुनानक देव जयन्ती बधाई: मृत्यु लोक के सभी जीव जंतु पशु पक्षी प्राणियों को स्वस्थ शरीर एवं लम्बी उम्र दे खुदा आज के दिन की *💐🌹*गुरु नानक जयन्ती पर देशवासियों को हार्दिक शुभकामनाएं/लख लख मुबारक।*💐🌹 * हो.. रब से ये दुआ है कि आपके परिवार में खुशियां ही खुशियाँ हो आमीन..! अपने अंदाज में मस्ती से रहा करता हूँ वो साथ हमारे हैं जो कुछ दूर चला करते हैं । हम आज है संजीदा बेग़म साहेबा के साथ.....! *अस्लामु अलैकुम/शुभप्रभात* हैप्पी सोमवार
Image
मुत्यु लोक का सच:*आचार्य रजनीश* (१) जब मेरी मृत्यु होगी तो आप मेरे रिश्तेदारों से मिलने आएंगे और मुझे पता भी नहीं चलेगा, तो अभी आ जाओ ना मुझ से मिलने। (२) जब मेरी मृत्यु होगी, तो आप मेरे सारे गुनाह माफ कर देंगे, जिसका मुझे पता भी नहीं चलेगा, तो आज ही माफ कर दो ना। (३) जब मेरी मृत्यु होगी, तो आप मेरी कद्र करेंगे और मेरे बारे में अच्छी बातें कहेंगे, जिसे मैं नहीं सुन सकूँगा, तो अभी कहे दो ना। (४) जब मेरी मृत्यु होगी, तो आपको लगेगा कि इस इन्सान के साथ और वक़्त बिताया होता तो अच्छा होता, तो आज ही आओ ना। इसीलिए कहता हूं कि इन्तजार मत करो, इन्तजार करने में कभी कभी बहुत देर हो जाती है। इस लिये मिलते रहो, माफ कर दो, या माफी माँग लो। *मन "ख्वाईशों" मे अटका रहा* *और* *जिन्दगी हमें "जी "कर चली गई.*
Image
पराली न जलाए: *पराली और कृषि अपशिष्ट आदि सहित फसलों के ठंडल भी न जलाये अन्यथा होगी दण्डात्मक कार्यवाही:वैभव श्रीवास्तव* रायबरेली,जिलाधिकारी वैभव श्रीवास्तव ने मा0 राष्ट्रीय हरित न्यायाधिकरण द्वारा फसल अवशेष/पराली जलाने को दण्डनीय अपराध घोषित करने की सूचना के बाद भी जनपद के कुछ किसानों द्वारा पराली जलाने की अप्रिय घटनाए घटित की जा रही है, जिसके क्रम में उत्तर प्रदेश शासन के साथ ही मा0 उच्चतम न्यायालय एवं मा0 हरित न्यायालयकरण (एन0जी0टी0) द्वारा कड़ी कार्यवाही करने के निर्देश दिये गये है, जनपद के समस्त कृषकों एवं जनपदवासी पराली (फसल अवशेष) या किसी भी तरह का कूड़ा, जलाने की घटनाये ग्रामीण एंव नगरी क्षेत्र घटित होती है तो ऐसे व्यक्तियों के विरूद्ध आर्थिक दण्ड एवं विधिक कार्यवाही के साथ ही उनकों देय समस्त शासकीय सुविधाओं एवं अनुदान समाप्त करते हुए यदि वे किसी विशेष लाइसेंस (निबन्धन) के धारक है तो उसे भी समाप्त किया जायेगा और ग्राम पंचायत निर्वाचन हेतु अदेय प्रमाण पत्र भी नही दिया जायेगा। इसके साथ ही घटित घटनाओं से सम्बन्धित ग्राम प्रधान, राजस्वकर्मी, लेखपाल, ग्राम पंचायत अधिकारी एवं ग्राम विकास अधिकारी तथा कृषि विभाग के कर्मचारी एवं पुलिस विभाग से सम्बन्धित हल्का प्रभारी के विरूद्ध कठोर दण्डात्मक कार्यवाही की जायेगी। मा0 राष्ट्रीय हरित न्यायाधिकरण द्वारा पारित आदेश में कृषि अपशिष्ट को जलाये जाने वाले व्यक्ति के विरूद्ध नियमानुसार अर्थदण्ड अधिरोपित किये जाने के निर्देश है। राष्ट्रीय हरित प्राधिकरण द्वारा राष्ट्रीय हरित न्यायाधिकरण अधिनियम की धारा-15 के अन्तर्गत पारित उक्त आदेशों का अनुपालन अत्यन्त आवश्यक है अन्यथा इसी अधिनियम की धारा 24 के अन्तर्गत आरोपित क्षतिपूर्ति की वसूली और धारा-26 के अन्तर्गत उल्लघंन की पुनरावित्त होने पर करावास एवं अर्थदण्ड आरोपित किया जाना प्राविधनित है एवं एक्ट संख्या 14/1981 की धारा 19 के अन्तर्गत अभियोजन की कार्यवाही कर नियमानुसार कारावास या अर्थदण्ड या दोनों से दण्डित कराया जायेगा। उक्त आदेश के अनुपालन में लेखपाल द्वारा क्षतिपूर्ति की वसूली की धनराशि सम्ब.न्धित से भू-राजस्व के बकाया की भांति की जायेगी। ग्राम सभा की बैठक में पराली प्रबन्धन एवं पराली एवं कृषि अपशिष्ट जैसे गन्ने की पत्ती/गन्ना, जलाने पर लगने वाले अर्थदण्ड एवं विधिक कार्यवाही के बारे में बताया कि कोई भी व्यक्ति कृषि अपशिष्ट को नही जलायेगा तथा कृषि अपशिष्ट जलाने पर तत्काल सम्बन्धित थाने पर सूचना दी जायेगी एवं आर्थिक दण्ड विधिक कार्यवाही करायी जायेगी। जिलाधिकारी ने कहा है कि किसान पराली व कृषि अपशिष्ट जैसे गन्ने की सूखी पत्ती या फसलों के डंठल इत्यादि न जलायें। पराली और कृषि अपशिष्ट न जलाने पर तहसील व विकास खण्ड, ग्राम स्तरों पर जागरूकता कार्यक्रम चलाकर आम आदमी को जागरूक भी किया जाये। उन्होंने कहा कि पराली जलाने पर पूरी तरह से शासन द्वारा पाबंदी लगाई गई है। शासन के निर्देशानुसार जनपद में पराली जाने पर कड़ी से अनुपालन भी कराया जा रहा है। कृत्य:नायाब टाइम्स *अस्लामु अलैकुम/शुभरात्रि*
Image