चिकित्सको ने हार्दिक शुभकामनाएं: *वरिष्ठ चिकित्साको ने दी धनतेरस एवं दीपावली पर्व की 'हार्दिक शुभकामनाएं/मुबारकबाद'* एवं माक्स लगाए सोशलडिटेन रखते हुए सुरक्षित रहें। लखनऊ,उत्तर प्रदेश की राजधानी के वरिष्ठ चिकित्सको ने देश एवं प्रदेश के *सभी नागरिकों को "धनतेरस एवं दीपावली" पर्व की 'हार्दिक शुभकामनाएं/मुबारकबाद* चिकित्सको में मेज़र *डॉ०डी०एन०नेगी "महानिदेशक"*,डॉ०एच०पी०कुमार *'पूर्व महानिदेशक'* डॉ०मधु सक्सेना 'निदेशक',डॉ०एस०के०नन्दा "सी०एम०एस०",डॉ०आशुतोष सिंह 'प्रबन्धक' एवं *"वरि०कार्डियोलॉजीस्ट"* गण डॉ०राजेश कुमार श्रीवास्तव, डॉ०डी०एस०राठौर,डॉ०प्रवीण प्रधान, डॉ०मनीषा लाल,डॉ०पी०के०सिंघानियां, डॉ०दीपक कुमार,डॉ०सन्तोष यादव और *डॉ०अनिल कुमार चौधरी । डॉ०वी०के०दुब, *डॉ०जी०एस०तिवारी 'डी०एच०ओ०',* डॉ०यू०सी०शर्मा *"वरि०चर्म रोग"* डॉ०एच०के०तिवारी,डॉ०अनिल रत्न त्रिपाठी,,डॉ०अल्ताफ हुसैन "वरि०रेडियोलॉजिस्ट",डॉ०एस०सी०श्रीवास्तव, *डॉ०आर०के०मिश्रा 'वरि०कार्डियोलोजिस्ट'*,डॉ०अरूण कुमार सिंह, *डॉ०एन०के०श्रीवास्तव 'सी०एम०एस०'*,डॉ०राजीव चौधरी *"कार्डियोलॉजिस्ट"*,डॉ०एन०बी० सिंह *"वरि०चेस्ट विशेषज्ञ"* डॉ०जय सिंह "वरि०फिजिशन",डॉ०यू०पी०सिंह,डॉ०आर०बी०र्मा 'वरि०सर्जन',डॉ०मुम्मताज अहमद 'निश्चेतक',डॉ०एन०एन०पान्डेय,डॉ०असगर अली। *डॉ०रेनु चौधरी 'सी०एम०एस०*',डॉ०सुनीता सिंह,डॉ०गौरी गौड़,डॉ०बीरबल "वरि०फिजिशन",डॉ०एम०नासिर, डॉ० वी०के०दुबे,डॉ०अनिल रत्न त्रिपाठी,डॉ०आर०के०मिश्रा 'ह्र्दय रोग विशेषज्ञ',डॉ०बेला रानी वर्मा 'एस०एम०ओ०',डॉ०चेतना त्रिपाठी "एस०एम०ओ०",डॉ०वी०वी०त्रिपाठी,डॉ०एस०के०शंखवार, डॉ०गुफरान,डॉ०मज़हर, डॉ०जया भिवानी,डॉ०अजय पाल,डॉ०अर्पित गुप्ता एवं नायाब टाइम्स परिवार ने सभी उपरोक्त चिकित्सको की ओर से आज दिनाँक 13/14 नवम्बर 2020 *धनतेरस एवं दीपावली* पर्व की हार्दिक "शुभकामनाएं/मुबारकबाद" देतें हुए जनता से अनुरोध करते हुए कहा है कि *कोरोना संक्रमण* का ध्यान रखते हुए *माक्स* जरुर लगाए व सोशलडिटेन भी बनाये अवश्य रहे। क्योंकि कोरोना ने फिर भयानक तबाही मचा दी है। पूरे अमेरिका मे कोरोना बेकाबू हो चुका है। संक्रमण नियंत्रण से बाहर है। यूरोप और इंग्लैंड भी खौफनाक मुसीबत में फस गया है। दूसरी वेव ने पहली के सभी रिकॉर्ड ध्वस्त कर दिये है। मरने वालों की संख्या नए रिकॉर्ड बना रही। अब भारत को बेहद सावधान रहना होगा विद्वानों ने सुरक्षित रहने को कहा है। *हम सुरक्षित परिवार सुरक्षित हैप्पी दीपावली* कृत्य:नायाब टाइम्स


Popular posts
मुत्यु लोक का सच:*आचार्य रजनीश* (१) जब मेरी मृत्यु होगी तो आप मेरे रिश्तेदारों से मिलने आएंगे और मुझे पता भी नहीं चलेगा, तो अभी आ जाओ ना मुझ से मिलने। (२) जब मेरी मृत्यु होगी, तो आप मेरे सारे गुनाह माफ कर देंगे, जिसका मुझे पता भी नहीं चलेगा, तो आज ही माफ कर दो ना। (३) जब मेरी मृत्यु होगी, तो आप मेरी कद्र करेंगे और मेरे बारे में अच्छी बातें कहेंगे, जिसे मैं नहीं सुन सकूँगा, तो अभी कहे दो ना। (४) जब मेरी मृत्यु होगी, तो आपको लगेगा कि इस इन्सान के साथ और वक़्त बिताया होता तो अच्छा होता, तो आज ही आओ ना। इसीलिए कहता हूं कि इन्तजार मत करो, इन्तजार करने में कभी कभी बहुत देर हो जाती है। इस लिये मिलते रहो, माफ कर दो, या माफी माँग लो। *मन "ख्वाईशों" मे अटका रहा* *और* *जिन्दगी हमें "जी "कर चली गई.*
Image
*--1918 में पहली बार इस्तेमाल हुआ ''हिन्दू'' शब्द !--* *तुलसीदास(1511ई०-1623ई०)(सम्वत 1568वि०-1680वि०)ने रामचरित मानस मुगलकाल में लिखी,पर मुगलों की बुराई में एक भी चौपाई नहीं लिखी क्यों ?* *क्या उस समय हिन्दू मुसलमान का मामला नहीं था ?* *हाँ,उस समय हिंदू मुसलमान का मामला नहीं था क्योंकि उस समय हिन्दू नाम का कोई धर्म ही नहीं था।* *तो फिर उस समय कौनसा धर्म था ?* *उस समय ब्राह्मण धर्म था और ब्राह्मण मुगलों के साथ मिलजुल कर रहते थे,यहाँ तक कि आपस में रिश्तेदार बनकर भारत पर राज कर रहे थे,उस समय वर्ण व्यवस्था थी।तब कोई हिन्दू के नाम से नहीं जाति के नाम से पहचाना जाता था।वर्ण व्यवस्था में ब्राह्मण,क्षत्रिय,वैश्य से नीचे शूद्र था सभी अधिकार से वंचित,जिसका कार्य सिर्फ सेवा करना था,मतलब सीधे शब्दों में गुलाम था।* *तो फिर हिन्दू नाम का धर्म कब से आया ?* *ब्राह्मण धर्म का नया नाम हिन्दू तब आया जब वयस्क मताधिकार का मामला आया,जब इंग्लैंड में वयस्क मताधिकार का कानून लागू हुआ और इसको भारत में भी लागू करने की बात हुई।* *इसी पर ब्राह्मण तिलक बोला था,"क्या ये तेली, तम्बोली,कुणभठ संसद में जाकर हल चलायेंगे,तेल बेचेंगे ? इसलिए स्वराज इनका नहीं मेरा जन्म सिद्ध अधिकार है यानि ब्राह्मणों का। हिन्दू शब्द का प्रयोग पहली बार 1918 में इस्तेमाल किया गया।* *तो ब्राह्मण धर्म खतरे में क्यों पड़ा ?* *क्योंकि भारत में उस समय अँग्रेजों का राज था,वहाँ वयस्क मताधिकार लागू हुआ तो फिर भारत में तो होना ही था।* *ब्राह्मण की संख्या 3.5% हैं,अल्पसंख्यक हैं तो राज कैसे करेंगे ?* *ब्राह्मण धर्म के सारे ग्रंथ शूद्रों के विरोध में,मतलब हक-अधिकार छीनने के लिए,शूद्रों की मानसिकता बदलने के लिए षड़यंत्र का रूप दिया गया।* *आज का OBC ही ब्राह्मण धर्म का शूद्र है। SC (अनुसूचित जाति) के लोगों को तो अछूत घोषित करके वर्ण व्यवस्था से बाहर रखा गया था।* *ST (अनुसूचित जनजाति) के लोग तो जंगलों में थे उनसे ब्राह्मण धर्म को क्या खतरा ? ST को तो विदेशी आर्यों ने सिंधु घाटी सभ्यता संघर्ष के समय से ही जंगलों में जाकर रहने पर मजबूर किया उनको वनवासी कह दिया।* *ब्राह्मणों ने षड़यंत्र से हिन्दू शब्द का इस्तेमाल किया जिससे सबको को समानता का अहसास हो लेकिन ब्राह्मणों ने समाज में व्यवस्था ब्राह्मण धर्म की ही रखी।जिसमें जातियाँ हैं,ये जातियाँ ही ब्राह्मण धर्म का प्राण तत्व हैं, इनके बिना ब्राह्मण का वर्चस्व खत्म हो जायेगा।* *इसलिए तुलसीदास ने मुसलमानों के विरोध में नहीं शूद्रों के विरोध में शूद्रों को गुलाम बनाए रखने के लिए लिखा !* *"ढोल गंवार शूद्र पशु नारी।ये सब ताड़न के अधिकारी।।"* *अब जब मुगल चले गये,देश में OBC-SC के लोग ब्राह्मण धर्म के विरोध में ब्राह्मण धर्म के अन्याय अत्याचार से दुखी होकर इस्लाम अपना लिया था* *तो अब ब्राह्मण अगर मुसलमानों के विरोध में जाकर षड्यंत्र नहीं करेगा तो OBC,ST,SC के लोगों को प्रतिक्रिया से हिन्दू बनाकर,बहुसंख्यक लोगों का हिन्दू के नाम पर ध्रुवीकरण करके अल्पसंख्यक ब्राह्मण बहुसंख्यक बनकर राज कैसे करेगा ?* *52% OBC का भारत पर शासन होना चाहिये था क्योंकि OBC यहाँ पर अधिक तादात में है लेकिन यहीं वर्ग ब्राह्मण का सबसे बड़ा गुलाम भी है। यहीं इस धर्म का सुरक्षाबल बना हुआ है,यदि गलती से भी किसी ने ब्राह्मणवाद के खिलाफ आवाज़ उठाई तो यहीं OBC ब्राह्मणवाद को बचाने आ जाता है और वह आवाज़ हमेशा के लिये खामोश कर दी जाती है।* *यदि भारत में ब्राह्मण शासन व ब्राह्मण राज़ कायम है तो उसका जिम्मेदार केवल और केवल OBC है क्योंकि बिना OBC सपोर्ट के ब्राह्मण यहाँ कुछ नही कर सकता।* *OBC को यह मालूम ही नही कि उसका किस तरह ब्राह्मण उपयोग कर रहा है, साथ ही साथ ST-SC व अल्पसंख्यक लोगों में मूल इतिहास के प्रति अज्ञानता व उनके अन्दर समाया पाखण्ड अंधविश्वास भी कम जिम्मेदार नही है।* *ब्राह्मणों ने आज हिन्दू मुसलमान समस्या देश में इसलिये खड़ी की है कि तथाकथित हिन्दू (OBC,ST,SC) अपने ही धर्म परिवर्तित भाई मुसलमान,ईसाई से लड़ें,मरें क्योंकि दोनों ओर कोई भी मरे फायदा ब्राह्मणों को ही हैं।* *क्या कभी आपने सुना है कि किसी दंगे में कोई ब्राह्मण मरा हो ? जहर घोलनें वाले कभी जहर नहीं पीते हैं।*
Image
परिवहन निगम: *राधा प्रधान आलमबाग डिपो की बनी स्टेशन इंचार्ज* *लखनऊ* उ०प्र०परि० निगम लखनऊ क्षेत्र के आलमबाग डिपो की राधा प्रधान (स्टेशन इंचार्ज) व मधु श्रीवास्तव (स्टेशन इंचार्ज) बस स्टेशन प्रबंधन आलमबाग बस टर्मिनल लखनऊ बनी जो परिवहन निगम के हित मे कार्य करेगी। *नायाब टाइम्स*
Image
अति दुःखद: *पूर्व विधायक आशा किशोर के पति का निधन* रायबरेली,सलोन विधान सभा के समाजवादी पार्टी की पूर्व विधायक आशा किशोर के पति श्याम किशोर की लंबी बीमारी के बाद लखनऊ के एक अस्पताल में निधन हो गया।इनकी उम्र लगभग 70 वर्ष की थी और पिछले कई दिनों से बीमार चल रहे थे। स्व श्याम किशोर अपने पीछे पत्नी आशा किशोर सहित भरा पूरा परिवार छोड़ गए है। श्याम किशोर की अंत्येष्टि पैतृक गांव सुखठा, दीन शाहगौरा में किया गया।इस अवसर पर सपा के वरिष्ठ नेता रामबहादुर यादव, विधायक डॉ मनोज कुमार पांडे, आरपी यादव, भाजपा सलोन विधायक दल बहादुर कोरी, राम सजीवन यादव, जगेश्वर यादव, राजेंद्र यादव,अखिलेश यादव राहुल निर्मल आदि ने पहुंचकर शोक संतृप्त परिवार को ढांढस बंधाया। कृत्य:नायाब टाइम्स
Image
: योगी आदित्यनाथमुख्यसचिव आर के तिवारी ने इस कार्यक्रम में मुख्यमंत्री का स्वागत किया।गर्भावस्था के 280 दिन और जन्म के बाद के दो साल शिशु के लिए बहुत महत्वपूर्ण। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने 40 बच्चों को भोजन करा राष्ट्रीय पोषण कार्यक्रम का शुभारंभ किया बच्चों की थाली में सहजन की सब्जी सहजन की दाल सहजन के पराठे और गुड़ के लड्डू उन्हें दिया गया कार्यक्रम में आए बच्चों की माताओं का स्वास्थ्य परीक्षण भी पांच कालिदास मार्ग स्थित आवास पर किया गया
Image