जिला अधिकारी ने कहा: *सरकार द्वारा संचालित योजनाओं से दिव्यांगजनों को लाभान्वित करने में आगे आये अधिकारी:जिला मजिस्ट्रेट* रायबरेली,"सू०वि०रा०" दिनाँक,06 नवम्बर, 2020 को अवगत करवाया की दिव्यांगजन सशक्तीकरण विभाग उत्तर प्रदेश द्वारा दिव्यांगजनों को लाभान्वित किये जाने हेतु संचालित योजनाएं यथा दिव्यांग पेंशन योजना, सहायक उपकरण योजना, दिव्यांग विवाह प्रोत्साहन पुरस्कार योजना, दुकान निर्माण/संचालन योजना संचालित की गई है। जिनका लाभ जनपद के सभी पात्र दिव्यांगजनों को दिलाये जाने हेतु अधिकारी आगे आये। जिलाधिकारी वैभव श्रीवास्तव ने बताया है कि प्रदेश सरकार की दिव्यांगजन भरण पोषण अनुदान योजना, कृत्रिम अंग/सहायक उपकरण योजना, दिव्यांगजन विवाह प्रोत्साहन पुरस्कार अनुदान योजना, दिव्यांगजन पुनर्वासन हेतु दुकान निर्माण/संचालन योजना आदि योजनाओं की जानकारी दिव्यागंजन को दे तथा उन्हें लाभान्वित किया जाए। जिलाधिकारी ने बताया कि दिव्यांग भरण-पोषण अनुदान योजनान्र्तगत (दिव्यांग पेंशन) प्रदान की जाती है जिसके अन्र्तगत रूपये 500 प्रतिमाह की दर से 6000 वार्षिक पेंशन धनराशि दिव्यांगजनों के खातों में आन लाइन द्वारा पी0एफ0एम0एस प्रणाली के माध्यम से प्रेषित की जाती है। जिसके अन्र्तगत आवष्यक अभिलेख -पासपोर्ट साइज दिव्यांगता प्रदर्षित फोटो, आयु प्रमाण-पत्र/परिवार रजिस्टर नकल, दिव्यांगता प्रमाण-पत्र, बैंक खाता सम्बन्धी प्रपत्र, आय प्रमाण-पत्र, ग्राम सभा के निवासी होने की स्थिति सम्बन्धित ग्राम सभा का प्रस्ताव तथा आधार कार्ड को स्व प्रमाणित कर अपलोड किया जाना अनिवार्य है। इसी प्रकार कृत्रिम अंग/सहायक उपकरण योजनान्र्तगत दिव्यांगजनों को कृत्रिम अंग/सहायक उपकरण ट्राईसाइकिल, व्हीलचयेर, सी0पी0 चेयर, बैशाखी, वांकिग स्टिक, श्रवण यन्त्र, ए0डी0एल0किट (कुष्ठरोग से मुक्त व्यक्तियों के लिए) आदि उपकरण प्रदान किये जाते हंै। आवेदन-पत्र के साथ नवीनतम दिव्यांगता प्रदर्शित फोटो, आय प्रमाण-पत्र, दिव्यांगता प्रमाण-पत्र, यू0डी0आई0डी0 कार्ड, जाति प्रमाण-पत्र निवासी सम्बन्धी प्रपत्र संलग्न किया जाना आवश्यक है। डीएम ने बताया कि दिव्यांगजन विवाह प्रोत्साहन पुरस्कार अनुदान योजनान्र्तगत दिव्यांग व्यक्तियों से विवाह करने पर अनुदान प्रदान किया जाता है। युवक के दिव्यांग होने पर रूपये 15000 युवती के दिव्यांग होने पर रूपये 20000 एवं युवक एवं युवती दोनों के दिव्यांग होने पर रूपये 35000 की अनुदान राशि प्रदान की जाती है। आवेदन- पत्र गत वित्तीय वर्ष एवं चालू वित्तीय वर्ष के स्वीकार किये जायेगें तदोपरान्त विवाह तिथि के अनुरूप ही पात्रता के आधार पर चयन कर लाभान्वित किया जाता है। विवाह के समय युवक 21 वर्ष से कम तथा 45 वर्ष से अधिक न हो एवं युवती की आयु 18 वर्ष से कम तथा 45 वर्ष से अधिक न हो। आवेदन-पत्र के साथ नवीनतम दिव्यांग दम्पत्तियों का फोटोग्राफ, दिव्यांगता प्रमाण-पत्र, आय प्रमाण-पत्र, विवाह प्रमाण-पत्र, जाति प्रमाण-पत्र, संयुक्त बैंक खाता, निवासी सम्बन्धी प्रपत्र, यू0डी0आई0डी0 कार्ड प्रति संलग्न करना आवश्यक है। इसी प्रकार दिव्यांगजन पुनर्वासन हेतु दुकान निर्माण/संचालन योजनान्र्तगत दिव्यांग व्यक्तियों को दुकान निर्माण एवं संचालन हेतु अनुदान/़ऋण प्रदान किया जाता है। दुकान संचालन हेतु रूपये 10000 जिसके अन्र्तगत रूपये 7500 ऋण एवं 2500 अनुदान के रूप में स्वीकृत किया जाता है। ऋण धनराशि रूपये 7500 (4 प्रतिशत) वार्षिक साधारण ब्याज के रूप में दिव्यांग द्वारा चालान के माध्यम से जमा किया जाता है। स्वीकृति धनराशि का प्रेषण सीधे आनलाइन खातों में आनलाइन किया जाता है। आवे.दन-पत्र के साथ नवीनतम दिव्यांगता प्रदर्शित फोटोग्राफ, दिव्यांगता प्रमाण-पत्र, आय प्रमाण-पत्र, जाति प्रमाण-पत्र, बैंक खाता, दुकान संचालन हेतु खोखा गुमटी ठेला अथवा किराये हेतु किरायानामा सम्बन्धी प्रपत्र, निवासी सम्बन्धी प्रपत्र, यू0डी0आई0डी0 कार्ड प्रति संलग्न किया जाना आवश्यक है। उन्होंने मुख्य विकास अधिकारी, एडीएम, समस्त एसडीएम व खण्ड विकास अधिकारी, तथा जिला दिव्यागंजन सशक्तिकरण अधिकारी को निर्देश दिये कि वह सरकार द्वारा दिव्यागंजनों की लाभपरक योजनाओं का प्रचार-प्रसार कर दिव्यागंजन को लाभान्वित करने में आगे आये। कृत्य:नायाब टाइम्स


Popular posts
Schi baat:*खरी बात * संस्कारी औरत का शरीर केवल उसका पति ही देख सकता है। लेकिन कुछ कुल्टा व चरित्रहीन औरतें अपने शरीर की नुमाइश दुनियां के सामने करती फिरती हैं। समझदार को इशारा ही काफी है। इस पर भी नारीवादी पुरुष और नारी दोनों, कहते हैं, कि यह पहनने वाले की मर्जी है कि वो क्या पहने। बिल्कुल सही, अगर आप सहमत हैं, तो अपने घर की औरतों को, ऐसे ही पहनावा पहनने की सलाह दें। हम तो चुप ही रहेंगे।
Image
रायबरेली हो कर प्रयागराज ? :*20 अक्टूबर से 5 नवम्बर तक राजमार्ग 24बी पर यातायात हेतु रूट परिवर्तित:वैभव श्रीवास्तव "डीएम"* रायबरेली:"सू०वि०रा०" ने जानकारी दी है कि *भारतीय राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण द्वारा जनपद रायबरेली* में रायबरेली प्रयागराज राष्ट्रीय राजमार्ग 24बी के किमी 84 में स्थित सई सेतु में मेसर्स सनराइज इन्जीनियर द्वारा प्रारम्भ किये गये मरम्मत कार्य एवं म्गचंदेपवद श्रवपदज के फिक्सिंग के लिए 20 अक्टूबर से 5 नवम्बर 2020 तक पूर्ण यातायात परिवर्तित कराने तथा ब्रिज वर्ष 1966 में खुलने के पश्चात कोई मरम्मत का कार्य न किये जाने कारण ब्रिज का म्गचंदेपवद श्रवपदज पूर्ण रूप से निष्किय हो चुका है, जिसके वजह से पुल पर प्रतिकूल दबाव पड रहा है तथा क्षतिग्रस्त होने की स्थिति बन रही है, जिसके कारण म्गचंदेपवद श्रवपदज तत्काल बदलना अति आवश्यक है। जिसके तहत यातायात परिवर्तित किया जायेगा। हल्ले वाहन के लिए लखनऊ के तरफ से प्रयागराज की तरफ जाने वाले हल्के वाहन रायबरेली सिविल लाइन चैराहे से बांयी तरफ2-25.0 किमी0 जाकर रिंग रोड से होकर जौनपुर रोड पर निकल कर मुंशीगंज बाईपास से प्रयागराज की तरफ जायेगें। प्रयागराज की तरफ से लखनऊ की तरफ जाने वाले हल्ले वाहन भी इसी रास्ते से जायेगें। भारी वाहन के लिए लखनऊ से प्रयागराज की तरफ जाने के लिए बछरावां से लालगंज होकर ऊंचाहार से प्रयागराज की तरफ से जायेगें। रायबरेली से प्रयागराज की तरफ जाने वाले वाहन रायबरेली से परशदेपुर होकर सलोन से ऊंचाहार होकर प्रयागराज की तरफ जायेगें। प्रयागराज से लखनऊ या कानपुर या रायबरेली की तरफ जाने वाले वाहन लखनऊ से प्रयागराज की तरफ जाने के लिए बछरावां से लालगंज होकर ऊंचाहार से प्रयागराज की तरफ से जायेगें। रायबरेली से प्रयागराज की तरफ जाने वाले वाहन रायबरेली से परशदेपुर होकर सलोन से ऊंचाहार होकर प्रयागराज की तरफ जायेगें। जिलाधिकारी वैभव श्रीवास्तव ने जानकारी देते हुए सभी सम्बन्धित अधिकारियों को निर्देश दिये है कि सुरक्षा कारणों को दृष्टिगत रखते हुए उक्त मार्गो पर 20 अक्टूबर से 5 नवम्बर तक पूर्ण यातायात परिवर्तित होने पर आवश्यक कार्यवाही सुनिश्चित करेगें। यह जानकारी अपर जिलाधिकारी राम अभिलाष द्वारा दी गई है। कृत्य:नायाब टाइम्स
Image
डग्गामार बसे: *डग्गामार बसें बेलगाम, रोडवेज को लगा रहीं रोजाना लाखों रुपये का चूना,पुलिस कर्मी बने मूक दर्शक* *लखनऊ* उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ के बहुचर्चित स्थान चारबाग़ बस स्टेशन से, महज कुछ दूर पर चारबाग़ रेलवे स्टेशन के सामने, डग्गेमार बसें सुबह होते ही चारबाग़ मेट्रो स्टेशन के नीचे मुख्य मार्ग पर ही खड़ी हो जाती है,जिससे यातायात ही नही प्रभावित होता बल्कि रोडवेज की आमदनी में भी कमी आती है। पिछले कई महीनों से परिवहन निगम व परिवहन विभाग के अधिकारी द्वारा लगातार डग्गामार वाहनों के खिलाफ लगातार अभियान चलाया गया परंतु डग्गामार पर प्रतिबंध लगाने में प्रशासन पूर्ण रूप से असफल रहा है। चारबाग़ रेलवे स्टेशन के सामने से बहराइच, गोरखपुर, आजमगढ के लिए साधारण और वातानुकूलित डग्गामार बसें लगती है। गुप्त सूत्रों से पता चला है कि डग्गामार वाहनों के वाहन स्वामी और पुलिस प्रशासन की सांठ गांठ से डग्गामार वाहनों का धंधा फल फूल रहा है। *कृत्य:नायाब टाइम्स*
Image
यौमे पैदाइश की मुबारकबाद आरिज़: *"यौमे पैदाइश"1,अक्टूबर 2020 के मौके पर आरिज़ अली को तहेदिल से मुबारकबाद* रायबरेली,आज हमारे पौत्र आरिज़ अली पुत्र नौशाद अली के योमे पैदाइश का दिन 1अक्टूबर 2020 है । जिसकी खुशी में उसे तहेदिल से *मुबारकबाद* "हैप्पी बर्थडे" आरिज़ अली । दोस्तो आप सब गुजरीस है के आप उसको अपनी दुवाओ से भी नवाज़े। *हैप्पी बर्थडे* आरिज़ अली....!🎂💐 नायाब अली लखनवी सम्पादक "नायाब टाइम्स" *अस्लामु अलैकुम/शुभप्रभात* हैप्पी गुरुवार
Image
203: Happy Sir- Syed day to all through out the world. We must remember his contribution to the Society. *Sir.Syed Ahmed Khan * 203rd "BirthAnniverasry" 💙🎂💙 💐
Image